23 दिसंबर का इतिहासः दिल दहला देने वाले ‘वो’ सात मिनट!

घटना वाले दिन डबवाली के डीएवी स्कूल में सालाना उत्सव मनाया जा रहा था। दोपहर 1 बजकर 40 मिनट पर पंडाल के गेट पर शॉर्ट सर्किट से आग लगी जो पूरे पंडाल में फैल गयी।

23 दिसम्बर 1995 को हरियाणा के डबवाली के एक स्कूल में हुए अग्निकांड ने पूरे देश को सन्न कर दिया था। इस भयावह घटना को कभी भूला नहीं जा सकता, हालांकि कोई इसे याद नहीं करना चाहता। इस खौफनाक अग्निकांड ने महज सात मिनट में 442 लोगों की जान ले ली। शवों के इतने ढेर के सामने श्मशान छोटा पड़ गया और खेतों में अंतिम संस्कार किया गया।

घटना वाले दिन डबवाली के डीएवी स्कूल में सालाना उत्सव मनाया जा रहा था। दोपहर 1 बजकर 40 मिनट पर पंडाल के गेट पर शॉर्ट सर्किट से आग लगी जो पूरे पंडाल में फैल गयी। पंडाल में बैठे लोगों को न मौका मिला न रास्ता।

पंडाल के पास ही खाना बनाने के लिए रखे गए गैस सिलेंडर और जेनरेटर में भी लगी आग ने इसे विकराल रूप दे दिया। चीख-पुकार, चीत्कार, बदहवासी और सबकुछ खाक। 1 बजकर 47 मिनट तक महज सात मिनट में पूरा पंडाल लाशों के ढेर में बदल गया। मरने वालों में 258 बच्चे और 135 महिलाएं भी थीं। लगभग 150 लोग घायल हुए। बड़ी संख्या ऐसे घायलों की है, जो स्थायी तौर पर विकलांग हो गए। इसे देश के सबसे भयावह अग्निकांडों में गिना जाता है।

अन्य अहम घटनाएंः

1845ः जाने-माने राजनीतिज्ञ और अधिवक्ता रासबिहारी बोस का जन्म।

1865ः स्वामी रामकृष्ण परमहंस के शिष्य रहे स्वामी सारदानंद का जन्म।

1889ः भारत के सर्वोच्च न्यायालय के तीसरे मुख्य न्यायाधीश मेहरचंद महाजन का जन्म।

1899ः सुप्रसिद्ध उपन्यासकार व पत्रकार रामवृक्ष बेनीपुरी का जन्म।

1902ः भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और किसान नेता चौधरी चरण सिंह का जन्म।

1926ः सुप्रसिद्ध समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी स्वामी श्रद्धानंद का बलिदान दिवस।

1941ः भारतीय स्वतंत्रता सेनानी अर्जुन लाल सेठी का निधन।

2000ः मशहूर अभिनेत्री व गायिका मल्लिका-ए-तरन्नुम नूरजहां का निधन।

2004ः भारत के 10वें प्रधानमंत्री पामुलापति वेंकट नरसिंह राव का निधन।

2010ः केरल के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता के. करुणाकरन का निधन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here