Indian Boat: मालदीव के नेताओं में फिर छिड़ा विवाद! जानिए भारत को लेकर क्यों मचा है बवाल

मालदीव में एक भारतीय मछली पकड़ने वाली नौका पर लगे जुर्माने को माफ करने पर विवाद बढ़ गया है।

397

भारत (India) और मालदीव (Maldives) के बीच खटास भरे रिश्तों के बीच नया तनाव देखने को मिला है। मालदीव में भारतीय (Indian) मछली पकड़ने वाली नाव ‘होली स्पिरिट’ (Holy Spirit) को छोड़े जाने को लेकर बवाल मचा हुआ है। इसमें मालदीव के ही नेता आपस में भिड़ रहे हैं। मालदीव सरकार (Maldives Government) ने अपने जलक्षेत्र में अवैध रूप से मछली पकड़ने (Fishing) के लिए उस भारतीय नाव (Indian Boat) पर 4.2 मिलियन एमवीआर का जुर्माना (Fine) लगाया था।

बाद में मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के कार्यालय ने होली स्पिरिट पर लगाया गया जुर्माना माफ कर दिया और भारतीय नाव को मालदीव छोड़ने का आदेश जारी कर दिया। 10 मार्च को राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से यह जुर्माना माफ कर दिया गया और भारतीय नाव को मालदीव छोड़ने का आदेश जारी कर दिया गया। आदेश के सात दिन बाद जहाज मालदीव से भारत के लिए रवाना हो गया।

यह भी पढ़ें- Hush Money Case: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगा बड़ा झटका, जानिए किस मामले में पाए गए दोषी

मामला वर्ष 2023 का है
दरअसल, भारतीय मछली पकड़ने वाली नाव को अवैध रूप से मछली पकड़ने के आरोप में मालदीव तटरक्षक बल ने 22 अक्टूबर 2023 को पकड़ लिया था। इस जहाज पर 28 अक्टूबर को 42 लाख मालदीवियन रूफिया का जुर्माना लगाया गया था। नाव संचालक ने जुर्माना राशि माफ करने का अनुरोध किया था। हालांकि, मालदीव की पिछली सरकार ने अनुरोध को स्वीकार नहीं करने का फैसला किया।

मत्स्य मंत्रालय ने केस वापस लिया
इस बीच, मत्स्य मंत्रालय ने जुर्माना अदा करने की मांग करते हुए सिविल कोर्ट में मुकदमा दायर किया था। हालांकि, जब राष्ट्रपति कार्यालय ने जुर्माना माफ कर दिया, तो मंत्रालय ने कोर्ट से आरोप वापस लेने का अनुरोध किया और कोर्ट ने अनुरोध के अनुसार आरोपों को खारिज कर दिया।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.