नार्को टेरोरिज्म के निशाने पर भारत… ऐसे खुली पोल

मादक पदार्थों की तस्करी के जरिये भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने साजिश सामने आई है।

दिल्ली पुलिस ने मादक पदार्थों की अब तक की सबसे बड़ी खेप बरामद की है। इसे भारत के विरुद्ध चल रहे अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठनों के षड्यंत्र का हिस्सा होने से इन्कार नहीं किया जा सकता है। यह मादक पदार्थ अफगानिस्तान से भारत पहुंचा था। जिसे बेचकर मिले धन का उपयोग आतंकवाद को बढ़ावा देने में किया जाना था।

अफगानिस्तान से मुंबई और वहां से मध्य प्रदेश हुए दिल्ली पहुंची थी 350 किलो हिरोइन। नार्को टेरोरिज्म का इसे नया रूट कहा जा सकता है। दिल्ली पुलिस द्वारा बरामद इस हेरोइन का मूल्य 2500 करोड़ रुपए है। इस प्रकरण में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें से तीन को हरियाणा और एक को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ें – उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण विधेयक पर ऐतिहासिक कदम… ये है मसौदे की मुख्य बातें

अंतरराष्ट्रीय सिंडिकेट सक्रिय
भारत में मादक पदार्थों को भेजने के लिए अंतरराष्ट्रीय गिरोह सक्रिय है। इसके तार अफगानिस्तान-पाकिस्तान से जुड़े हैं। इसका मुख्य षड्यंत्रकारी वहीं बैठा है। इस बरामदगी की जानकारी देते हुए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के नीरज ठाकुर ने बताया कि यह ऑपरेशन कई महीनों से चल रहा था।

ये हेरोइन अफगानिस्तान से मुंबई के जरिये राजधानी में पहुंची थी। इसे कन्टेनर्स में छुपाकर लाया गया था। फरीदाबाद में इसे छुपाने के लिए घर किराए पर लिया गया था। इसके बाद हेरोइन को मध्य प्रदेश की फैक्टरी में और प्रोसेस किया जाना था। इसके बाद पंजाब में वितरित किया जाना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here