Dawood Ibrahim के रिश्तेदार जावेद मियांदाद परिवार सहित पाकिस्तान में नजरबंद? पढ़िये, पूरी खबर

दाऊद इब्राहिम पर 1993 के मुंबई बम धमाकों की साजिश रचने का आरोप है, जिसमें लगभग 250 लोग मारे गए थे, जबकि हजारों लोग घायल भी हुए थे।

494

भारत का मोस्ट वांटेड भगोड़ा डॉन दाऊद इब्राहिम(India’s most wanted fugitive don Dawood Ibrahim) कड़ी सुरक्षा के बीच कराची अस्पताल में भर्ती(Admitted to Karachi hospital) है, वहीं पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद(Former Pakistani cricketer Javed Miandad) को उनके परिवार के साथ घर में नजरबंद(House arrest with family) रखे जाने की खबर है। पाकिस्तानी क्रिकेट के दिग्गज माने जाने वाले जावेद मियांदाद अंडरवर्ल्ड डॉन और आतंकवादी दाऊद इब्राहिम के करीबी रिश्तेदार(Close relative of underworld don and terrorist Dawood Ibrahim) हैं। दाऊद इब्राहिम की बेटी की शादी जावेद मियांदाद के बेटे हैं।

मीडिया रिपोर्ट
जावेद मियांदाद की नजरबंदी के बारे में बात करते हुए, पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों(Pakistani media reports) से पता चलता है कि पूर्व क्रिकेटर को उनके पूरे परिवार के साथ घर में नजरबंद रखा गया है। रिपोर्ट से पता चलता है कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर जावेद मियांदाद और उनके परिवार को घर में नजरबंद रखा है।

दाऊद को जहर देने की खबर
बता दें, कई पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्टों और पत्रकारों ने दावा किया था कि दाऊद इब्राहिम को अज्ञात लोगों ने दो दिन पहले जहर दे दिया था। उसके बाद उसे कराची के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 1993 के मुंबई बम शृखंला बम धमाकों(1993 Mumbai serial blasts) का मुख्य आरोपी दाऊद कड़ी सुरक्षा में इलाज करा रहा है। फिलहाल, दाऊद इब्राहिम की स्वास्थ्य स्थिति गंभीर बनी हुई है। सुरक्षा के मद्देनजर पूरी मंजिल को सील कर दिया गया है। साथ ही उसके परिवार और पाकिस्तानी अधिकारियों के अलावा किसी को भी उससे मिलने की अनुमति नहीं है।

Dawood Ibrahim मर चुका है? भारत के मोस्ट वांटेड आतंकी की कराची में जहर देने से मौत की खबर

कौन है दाऊद इब्राहिम?
दाऊद इब्राहिम पर 1993 के मुंबई बम धमाकों की साजिश रचने का आरोप है, जिसमें लगभग 250 लोग मारे गए थे, जबकि हजारों लोग घायल भी हुए थे। इन धमाकों ने मुंबई और पूरे देश में कई दंगों को जन्म दिया था। दाऊद पर पाकिस्तान में लश्कर-ए-तैयबा जैसे कई आतंकी संगठनों के साथ करीबी संबंध रखने का आरोप है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.