ऐसी दीवानगी कि किचन में ही बना दी पति की कब्र

हिंदी फिल्म का एक गीत है, ऐसी दीवानगी देखी नहीं कभी… बस… जिस कहानी को हम बताने जा रहे हैं उसकी अगली पंक्ति है ‘हैवानियत’।

मुंबई के दहिसर में रईस करामत अली शेख रहता था। छोटी सी खोली थी उसमें पत्नी और दो बच्चों के साथ जिंदगी कट रही थी। इस बीच रईस की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसकी पत्नी शाहिदा ने दहिसर पुलिस थाने में 25 मई को दर्ज करा दी। इससे रईस के भाई और परिवार के लोग परेशान थे, बड़े भाई तो मुंबई भी आ गए। इसके बाद जो पता चला वो दीवानगी और हैवानियत की हद ही है।

रईस करामत अली शेख गायब हो गया था, रईस का बड़ा भाई यह सुनकर मुंबई आ पहुंचा। उसने अपने स्तर पर भाई की खोजबीन शुरू की। परिवार से बातचीत करके हालचाल ले रहा था। इस बीच रईस की छह वर्षीय बेटी चाचा-चाचा कहते पहुंच गई। भतीजी को देख भावुक हुआ रईस का भाई भतीजी को गोद में बैठाकर पूछने लगा कि बेटी कहां हैं अब्बू?

इसे मराठी में पढ़ें – किचनमध्ये नवऱ्याला गाडून तिथेच ती जेवण बनवायची! ६ वर्षांच्या मुलीने तोंड उघडले आणि…!

भतीजी का उत्तर सुनते ही सन्न हो गया
भतीजी ने चाचा के सवाल का जो जवाब दिया वो झकझोरनेवाला था। चाचा को रईस की बेटी ने बताया कि मम्मी और दूसरे वाले चाचू को पता है कि पापा कहां है। यह उत्तर सुनते ही रईस के भाई का दिमाग घूमने लगा। वह घर से निकलकर पुलिस थाने पहुंचा। उसने पुलिस अधिकारी के सामने अपनी भाभी पर शक जाहिर किया। यह उसे दूसरे वाले चच्चू का जिक्र होने पर हुआ था।

शक ने किया भंडाफोड़
रईस के भाई द्वारा शंका उत्पन्न करने पर पुलिस ने प्रकरण की जांच तेज कर दी। उन्होंने क्षेत्र और पड़ोसियों से पूछताछ की। तब एक पड़ोसी ने बताया कि 21 मई को रईस के घर के बाहर हलचल हो रही थी। घर के बाहर मिट्टी की बोरियां और लादी रखी हुई थी। इसके चार दिन बाद 25 मई को ही रईस की पत्नी शाहिदा ने पुलिस थाने में पति के गायब होने की रिपोर्ट लिखाई थी।

शाहिदा से पूछताछ में खुली सच्चाई
पुलिस ने शाहिदा से पूछताछ शुरू की तो उसे उत्तर में अंतर मिलने लगे। इसके बाद पुलिस को घर की कुछ लादियां बदली गई दिखीं। पुलिस ने जब एक लादी को उखाड़ा तो उसके नीचे से बदबू आ रही थी। यह देख शाहिदा भी टूट गई थी। उसने बताया कि उसका अमित विश्वकर्मा नामक युवक से प्रेम संबंध था। अमित वॉचमैन की नौकरी करता था। शाहिदा और अमित की दीवानगी में रईस कांटा बन रहा था। जिसके बाद इस प्रेमियों के दिमाग में हैवानियत सवार हो गई। शाहिदा ने पहले भी दो बार रईस को खाने में नींद की गोली देकर मारने की कोशिश की थी। लेकिन इन गोलियों से रईस को कुछ नहीं हुआ। इसके बाद शाहिदा ने अपने आशिक के साथ मिलकर रईस की हत्या का प्लान बनाया। 21 मई की रात दोनों ने बिजली के तार से रईस का गला घोंट दिया।

ये भी पढ़ें – यूपीः क्या केंद्रीय नेतृत्व सीएम योगी के कामकाज से नाराज है? जानने के लिए पढ़ें ये खबर

पिता की हत्या, मां आरोपी और बच्चे गवाह
रईस के शव को किचन में गाड़ने तक दोनों बच्चे भी नींद से जाग गए थे। शाहिदा ने दोनों को डाटकर टीवी देखने को कहा। इस बीच आशिक अमित के साथ मिलकर उसने रईस के शव को किचन में गाड़ दिया। इस घटना की गवाही अब इन्हीं बच्चों पर निर्भर है।

किचन से निकला शव
पुलिस ने किचन को खुदवाया तो उसमें से सड़ांध लिये रईस का शव बाहर आया। इसके बाद पुलिस ने शाहिदा और उसके प्रेमी अमित को गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here