मध्य प्रदेश: बेकाबू कार ने सड़क किनारे काम कर रहे मजदूरों को रौंदा, 4 की मौत, 13 घायल

रतलाम में तेज रफ्तार चला रहे एक कार ने फोरलेन पर काम कर रहे मजदूरों को जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में चार मजदूरों ने मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 13 लोग घायल हो गए।

मध्य प्रदेश के रतलाम जिला मुख्यालय से करीब 18 किलोमीटर दूर बिलपांक थाना क्षेत्र अंतर्गत महू नीमच हाईवे पर ग्राम जमुनिया के पास 15 नवंबर की शाम को तेज रफ्तार कार ने फोरलेन पर काम कर रहे मजदूरों को जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में चार मजदूरों ने मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 13 लोग घायल हो गए। घायलों में आठ मजदूर और पांच व्यक्ति कार सवार हैं। घायल मजदूरों की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी मजदूर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और बुलंदशहर के रहने वाले हैं।

जानकारी के अनुसार ग्राम जमुनिया के समीप स्थित पुलिया के पास 15 नवंबर को 12 मजदूर रेलिंग लगाने का काम कर रहे थे। इस दौरान इंदौर की तरफ से आई तेज रफ्तार कार अनियंत्रित हो गई मजदूरों को रौंदते हुए आगे निकल कर क्षतिग्रस्त हो गई। कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि उसकी टक्कर से कई मजदूर बहुत दूर जा गिरे। हादसे के बाद आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। जानकारी मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से मृतकों तथा घायलों को लोडिंग वाहन से जिला अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस के अनुसार हादसे में अलीगढ़ जिले के ग्राम मलिकापुर के रहने वाले 20 वर्षीय टीटू पुत्र सुरेश, 19 वर्षीय विकास पुत्र राकेश कश्यप, 22 वर्षीय हरिओम पुत्र हरप्रसाद और 20 वर्षीय टीटू पुत्र सुरेश की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वहीं, घायलों में 18 वर्षीय दीपक कुमार पुत्र जगमोहन सेन निवासी ग्राम मथना जिला अलीगढ़, 17 वर्षीय योगेश पुत्र महेश, 32 वर्षीय मनवीरसिंह पुत्र मंगल सिंह, 31 वर्षीय ओमपाल सिंह पुत्र मंगल सिंह, 18 वर्षीय अमित पुत्र दलवीर सिंह, 17 वर्षीय चंदू पुत्र शेर सिंह व 18 वर्षीय आशीष पिता नाहर सिंह सभी निवासी ग्राम मलिकपुरा जिला अलीगढ़(यूपी) घायल हुए हैं। इसके साथ ही कार में सवार 28 वर्षीय सौरभ पुत्र शैलेन्द्र जैन निवासी पैलेस रोड रतलाम, उनकी मां 52 वर्षीय शालिनी जैन और नानी 75 वर्षीय शांता जैन निवासी नई आबादी मन्दसौर के अलावा कार दो अन्य कार सवार भी गंभीर हुए हैं। सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार जारी है।

ये भी पढ़ें – धर्मशालाः विदेशी परिंदों से गुलजार होने लगा पौंग जलाशय

रतलाम ग्रामीण क्षेत्र के विधायक दिलीप मकवाना, कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी, एसपी अभिषेक तिवारी, सिविल सर्जन डॉ. आनंद चंदेलकर आदि जिला अस्पताल पहुंचे और घायलों से घटना व इलाज के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर और विधायक ने डाक्टरों को घायल लोगों का बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए। विधायक मकवाना ने कहा कि घटना की जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी। मुख्यमंत्री से चर्चा कर मृतकों के स्वजन व घायलों आर्थिक मदद दिलाई जाएगी।

पुलिस के अनुसार प्रारंभिक तौर पर यह जानकारी सामने आई है कि कार चालक को झपकी आने पर वह अपना संतुलन खो बैठा और कार सड़क किनारे काम कर रहे मजदूरों को कुचलकर क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे के कारणों की पड़ताल की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here