बिहारः तेज के प्रताप से नेता ही नहीं, मीडियाकर्मी भी भयभीत! देखें, वीडियो- कैसे जान बचाकर भागा पत्रकार

तेज प्रताप का दावा है कि उनके खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के घर पर षड्यंत्र रचा जा रहा है। इस बीच उन्होंने पार्टी से इस्तीफा तो नहीं दिया है लेकिन उन्होंने अपना घर छोड़ दिया है और अपनी मां राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड के निवास में रहने चले गए हैं।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप किसी न किसी कारण से हमेशा लाइम लाइट में बने रहते हैं। पिछले दिनों आरजेडी नेता रामराज यादव की कमरे में बंद कर पिटाई करने का मामला उजागर होने के बाद अब एक नया मामला प्रकाश में आया है।

तेज ने जहां आरजेडी से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी है, वहीं एक पत्रकार को दौड़ाने को लेकर भी उनकी चर्चा है। यूट्यूब चैनल के इस पत्रकार का उन्होंने पीछा ही नहीं किया, बल्कि वीडियो भी बनाया।

तेज प्रताप ने शेयर किया है वीडियो
27 अप्रैल को तेज प्रताप ने सोशल मीडिया हैंडल्स पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि पत्रकार उनके डर से कैसे सरपट भाग रहा है और वे उसका पीछा कर रहे हैं। यहां तक कि उन्होंने इसका एक वीडियो भी बनाया और उसे सोशल मीडिया पर शेयर किया।

वीडियो में क्या है?
वीडियो में देखा जा सकता है कि एक पत्रकार उनका इंटरव्यू लेने आया है। वह तेज प्रताप से पूछता है कि क्या वे उससे नाराज हैं। इसके जवाब में तेज कहते हैं कि नहीं, आपसे क्यों नाराज क्यों रहेंगे। आप अपना माइक और कैमरा बाहर रखकर आइए। तेज प्रताप की इस बात से वह डर जाता है और वहां से भाग खड़ा होता है। तेज प्रताप उनका दूर तक पीछा करते हैं लेकिन पत्रकार रुकता नहीं है। तेज बाद में वीडियो में यह दावा करते हैं कि ये वही पत्रकार हैं, जिन्होंने उन्हें बदनाम किया। तेज प्रताप इस बात को कई बार कहते हैं और पत्रकार तथा उसके चैनल को भला-बुरा कहते हैं।

तेज प्रताप का आरोप
तेज प्रताप का दावा है कि उनके खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के घर पर षड्यंत्र रचा जा रहा है। इस बीच उन्होंने पार्टी से इस्तीफा तो नहीं दिया है लेकिन उन्होंने अपना घर छोड़ दिया है और अपनी मां राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड के निवास में रहने चले गए हैं। तेजस्वी यादव भी अपनी पत्नी के साथ यहीं रहते हैं। इसके साथ ही दिल्ली से आने के बाद लालू यादव भी यहीं रहते हैं। अब तेज प्रताप आगे क्या गुल खिलाते हैं, ये देखना होगा।

आरजेडी ने किया था यह दावा
बता दें कि पिछले दिनों आरजेडी नेता रामराज यादव ने दावा किया था कि इफ्तार पार्टी के दौरान उन्हें पार्टी द्वारा 3 नंबर पंडाल की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इस दौरान तेज प्रताप उन्हें अपने कमरे में ले गए। वहां उनकी पिटाई की गई। उन्हें धमकाया गया कि वे आरजेडी छोड़ दें, नहीं तो उन्हें गोली मरवा दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here