आर्थिक अपराधियों और भगोड़ों से 1.8 बिलियन डॉलर की संपत्ति बरामद – Dr. Jitendra Singh

43

केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह (Dr. Jitendra Singh) ने सीबीआई मुख्यालय में एक अलंकरण समारोह में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा आर्थिक अपराधी अधिनियम (Economic Offenders Act) लाए जाने के बाद से पिछले लगभग चार वर्षों में आर्थिक अपराधियों (economic offenders) और भगोड़ों ( fugitives) से 1.8 बिलियन डॉलर से अधिक की संपत्ति बरामद की गई है, जबकि धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) ने 2014 से अपराधियों की 12 बिलियन डॉलर से अधिक की संपत्ति कुर्क करने में मदद की है।

अपराधियों और भगोड़ों के प्रत्यर्पण में भारी वृद्धि
डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि हाल के वर्षों में, खासकर अक्टूबर 2022 में भारत द्वारा 90वीं इंटरपोल महासभा (INTERPOL GENERAL ASSEMBLY) की मेजबानी के बाद अपराधियों  (criminals)और भगोड़ों के प्रत्यर्पण (extradition)में भारी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि यद्यपि इस वर्ष अब तक 19 अपराधी/भगोड़े भारत लौटे हैं, 2022 में 27 और 2021 में 18 अपराधियों/भगोड़ों के भारत लौटने सहित पिछले वर्षों में औसतन लगभग 10 अपराधी/भगोड़े लौटकर आए हैं। डॉ. जितेंद्र सिंह ने इस बात को रेखांकित किया कि भारत में अपराधियों/भगोड़ों की वापसी में उल्लेखनीय वृद्धि अक्टूबर 2022 में दिल्ली में आयोजित 90वीं इंटरपोल महासभा के पश्‍चात भारत और अन्य देशों की पुलिस के बीच सहयोग बढ़ने का परिणाम है। इस महासभा का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने किया था।

आर्थिक अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई
2018 में आर्थिक अपराधी अधिनियम के अधिनियमन का उल्‍लेख करते हुए डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि मोदी सरकार आर्थिक अपराधियों पर सशक्‍त कार्रवाई कर रही है। उन्‍होंने आर्थिक अपराधियों (economic offenders) और भगोड़ों तथा मनी लॉन्डरिंग (money laundering) करने वालों से बड़ी मात्रा में संपत्ति की वसूली और कुर्की के बारे में जानकारी दी। डॉ. जितेंद्र सिंह ने सीबीआई मुख्यालय (CBI Headquarters) में एक अलंकरण समारोह में विशिष्‍ट सीबीआई अधिकारियों को भारतीय पुलिस पदक प्रदान करने के बाद प्रथम “अंतर्राष्ट्रीय पुलिस सहयोग दिवस” ​​का उद्घाटन किया।

यह भी पढ़ें – जी-20 :एयर पेट्रोलिंग करेंगे लड़ाकू विमान

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.