उत्तर प्रदेश ATS के हाथ लगी बड़ी सफलता, 2 पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश एंटी टेररिस्ट स्क्वाड ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

358

उत्तर प्रदेश एंटी टेररिस्ट स्क्वाड (Uttar Pradesh Anti Terrorist Squad) ने पाकिस्तानी जासूसों (Pakistani Spies) को गिरफ्तार (Arrested) किया है। दोनों पर पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (Agency ISI) के लिए जासूसी करने का आरोप है। जानकारी के अनुसार, यूपी एटीएस को सूचना मिल रही थी कि कुछ लोगों को संदिग्ध स्रोतों से पैसा मिल रहा है, जिसका इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों और जासूसी के लिए किया जा रहा है। इसके बाद यूपी एटीएस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया।

एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गए एक आरोपी का नाम रियाजुद्दीन और दूसरे का नाम अमृत गिल उर्फ अमृतपाल सिंह है। रियाजुद्दीन गाजियाबाद का रहने वाला है जबकि दूसरा आरोपी अमृत पाल सिंह पंजाब के भटिंडा का रहने वाला है।

यह भी पढ़ें- स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक में ‘फन विद इलेक्ट्रॉनिक्स’ विषय पर निःशुल्क कार्यशाला का आयोजन

आरोपी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सूचनाएं भेजते थे
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अमृत गिल उर्फ अमृतपाल सिंह पाकिस्तानी आईएसआई एजेंटों के संपर्क में था और भारतीय सेना से जुड़ी संवेदनशील और प्रतिबंधित सूचनाएं आईएसआई को भेजता था। इस काम के बदले आईएसआई के पाकिस्तानी हैंडलर्स द्वारा रियाजुद्दीन और इजहारुल की मदद से अमृत गिल तक पैसे पहुंचाए जाते थे। जांच के दौरान जब रियाजुद्दीन के बैंक खातों का विश्लेषण किया गया तो पता चला कि उनके एक खाते में मार्च 2022 से अप्रैल 2022 के बीच अज्ञात स्रोतों से लगभग 70 लाख रुपये आए, जो अलग-अलग खातों में भेजे गए थे।

इसी क्रम में आईएसआई को जानकारी भेजने वाले ऑटो ड्राइवर अमृत गिल को भी बैंक ट्रांसफर के जरिए आर्थिक मदद दी गई। भारतीय सेना के टैंक आदि के बारे में संवेदनशील जानकारी अमृत गिल ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को साझा की थी।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.