पश्चिम रेलवे : टिकट जांच अभियान में वसूले गए ‘इतने’ करोड़ रुपये जुर्माना

मुंबई उपनगरीय लोकल सेवाओं, मेल/एक्सप्रेस के साथ-साथ यात्री ट्रेनों और हॉलिडे स्पेशल ट्रेनों में टिकट रहित/अनियमित यात्रा को रोकने के लिए लगातार गहन टिकट जांच अभियान चलाए जा रहे हैं।

पश्चिम रेलवे की मुंबई उपनगरीय लोकल सेवाओं, मेल/एक्सप्रेस के साथ-साथ यात्री ट्रेनों और हॉलिडे स्पेशल ट्रेनों में टिकट रहित/अनियमित यात्रा को रोकने के लिए लगातार गहन टिकट जांच अभियान चलाए जा रहे हैं। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ वाणिज्यिक अधिकारियों की देखरेख में अत्यधिक प्रेरित टिकट जांच दलों ने अप्रैल से अक्टूबर, 2022 की अवधि के दौरान कई टिकट जांच अभियान आयोजित किए, जिनमें 114.18 करोड़ रुपये जुर्माने की राशि राजस्व के रूप में वसूल की गई।

पश्चिम रेलवे के जनसम्पर्क विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अक्टूबर, 2022 के दौरान बिना बुक किए सामान के मामलों सहित 2.38 लाख टिकट रहित/अनियमित यात्रियों का पता लगाकर उनसे 17 करोड़ रुपये जुर्माने स्वरूप प्राप्त किए गए। उल्लेखनीय है कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान कुल 16.78 लाख टिकट रहित/अनियमित यात्रियों और बिना बुक किए सामान के मामलों का पता लगाया गया, जबकि पिछले वर्ष में इसी अवधि के दौरान 6.79 लाख मामलों का पता चला था। यह 147.23% की उल्लेखनीय वृद्धि है। इन यात्रियों से 114.18 करोड़ रुपये की राजस्व राशि दंडस्वरूप प्राप्त की गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि के 36.57 करोड़ रुपये की तुलना में 212.22% अधिक है। एसी लोकल ट्रेनों में अनाधिकृत प्रवेश को रोकने के लिए लगातार औचक टिकट चेकिंग अभियान चलाये जाते हैं। इन अभियानों के परिणामस्वरूप अप्रैल, 2022 तक 22300 से अधिक अनधिकृत यात्रियों पर जुर्माना किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here