Veer Savarkar: ‘साहित्यसूर्य सावरकर’ कार्यक्रम के माध्यम से स्वातंत्र्यवीर सावरकर को दी गई संगीतमय श्रद्धांजलि

'साहित्यसूर्य सावरकर' कार्यक्रम के बारे में मंजिरी मराठे ने कहा कि 2007 में उन्होंने 'शतजनम शोधताना' कार्यक्रम किया था। इसमें लावणी, पोवाड़ा, हिटा जैसे लोक गीत शामिल थे।

118

Veer Savarkar: स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा वर्णित भारत के गौरवशाली इतिहास(Glorious history of India) के चमकते सितारों को श्रद्धांजलि देने वाले एक ऑडियो-विजुअल संगीत कार्यक्रम ‘साहित्यसूर्य सावरकर'(Audio-visual musical program ‘Sahityasurya Savarkar’) का उद्घाटन 25 फरवरी को स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक सभागार(Swatantraveer Savarkar National Memorial Auditorium) में किया गया। कार्यक्रम को स्वातंत्र्यवीर सावरकर स्मारक के कोषाध्यक्ष मंजिरी मराठे(Treasurer Manjiri Marathe) द्वारा संकल्पित किया गया है। कार्यक्रम की रचना और निर्देशन वर्षा भावे द्वारा किया गया है। कार्यक्रम का मार्गदर्शन स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक के कार्याध्यक्ष रणजीत सावरकर ने किया है।

वीर सावरकर द्वारा बताये गये क्रांतिकारी विचारों पर आधारित कार्यक्रम
‘साहित्यसूर्य सावरकर’ कार्यक्रम के बारे में मंजिरी मराठे ने कहा कि 2007 में उन्होंने ‘शतजनम शोधताना’ कार्यक्रम किया था। इसमें लावणी, पोवाड़ा, हिटा जैसे लोक गीत शामिल थे। यह वीर सावरकर के विचारों पर आधारित पहला कार्यक्रम था। नव प्रस्तुत कार्यक्रम ‘साहित्यसूर्य सावरकर’ में वीर सावरकर ने शिवाजी महाराज, संभाजी महाराज, बाजीराव पेशवा, झांसी की रानी, ​​त्यात्या टोपे, वाघनखं और मातृभूमि के बारे में बहुत सुंदर ढंग से लिखा है। यह कार्यक्रम इसी पर आधारित है। इसमें वीर सावरकर के कुछ नव रचित गीतों की प्रस्तुति की जायेगी। ऐसे अनूठे कार्यक्रम का यह पहला प्रयास है।

नई संगीत रचना – संगीत निर्देशक वर्षा भावे
इस कार्यक्रम की संगीत निर्देशक वर्षा भावे ने इस अनूठे कार्यक्रम को लेकर उत्साहित होते हुए कहा कि 2007 में हमने ‘शतजन्म शोधताना’ नामक एक भव्य कार्यक्रम के साथ वीर सावरकर पर काम करना शुरू किया था। तब ‘साहित्यसूर्य सावरकर’ कार्यक्रम के लिए मंजिरी मराठे ने वीर सावरकर की पुस्तक मेरे सामने रखी और कहा कि हम इसकी रचना पर नये प्रयोग करना चाहते हैं। उन्होंने ही इस प्रोग्राम की पूरी रूपरेखा तैयार की है। तभी से ‘साहित्यसूर्य सावरकर’ कार्यक्रम का सफर शुरू हुआ और हम दिन-ब-दिन इसमें गहराई से जुड़ते गए। कलांगन के हमारे सभी बच्चों और युवाओं को भी इस कार्यक्रम को करने में आनंद आता है। हमें यकीन है कि प्रशंसकों को कार्यक्रम की अवधारणा पसंद आएगी।

Skill Development Scam Case: चंद्रबाबू नायडू के खिलाफ आंध्र प्रदेश सरकार पहुंची सुप्रीम कोर्ट, जमानत निरस्त करने की मांग की

इस कार्यक्रम का संगीत कमलेश भडकमकर और सोमेश नार्वेकर ने तैयार किया है। अभिनेता श्रीरंग भावे, मयूर सुकाले, पार्थ महाजन, सैली महाडिक, दिशा देसाई, अमृता मोडक, क्षितिजा जोशी, स्मयन अंबेकर की इसमें भूमिका है, जबकि निर्देशन रोहन देशमुख, कुहू दातार ने किया है और दृश्य रोहन गायतोंडे ने बनाए हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.