उत्तर प्रदेश : विश्व मजदूर दिवस पर श्रमिक सम्मानित, योगी सरकार से की ये मांग

विश्व मजदूर दिवस पर 1 मई को आराजी लाइन ब्लॉक क्षेत्र रोहनिया के राजातालाब ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि विजय पटेल की अगुवाई में मेहनतकश श्रमिकों को सम्मानित किया गया ।

विश्व मजदूर दिवस पर 1 मई को आराजी लाइन ब्लॉक क्षेत्र रोहनिया के राजातालाब ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि विजय पटेल की अगुवाई में मेहनतकश श्रमिक को सम्मानित किया गया। पंचकोसी रोड के किनारे स्थित तालाब के सफ़ाई अभियान में जुटे श्रमिकों ने पूरे उत्साह से सफाई की। इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने उन्हें स्वच्छता की शपथ दिलाई और सभी मजदूरों के कार्यों की जमकर सराहना के बाद उन्हें मिठाई खिला कर सम्मानित किया। तालाब की सफाई एवं श्रमदान में सामाजिक कार्यकर्ता मनोज कुमार, विजय पटेल, मनोज पटेल, महेंद्र राठौर, मंगरू, प्रमोद सिंह, कृष्णा प्रसाद जायसवाल, पप्पू विश्वकर्मा ने भी भाग लिया।

50 गांवों में मजदूर दिवस मनाया गया
विश्व मजदूर दिवस पर मनरेगा मजदूर यूनियन से जुड़े मजदूरों ने चक्रपानपुर, रुपापुर, भोजपुर, प्रतापपुर, रखौना, खजूरी, बेनीपुर, हरपुर, गनेशपुर सहित लगभग 50 गांवों में मजदूर दिवस मनाया। मजदूरों ने सरकार के सामने 6 सूत्री मांगें रखीं। इसमें साल में 200 दिनों का काम एवं 600 रुपये प्रतिदिन की मजदूरी, प्रत्येक मनरेगा मजदूरों का स्वास्थ्य बीमा, 55 वर्ष से ऊपर के सभी मनरेगा मजदूरों को प्रतिमाह 3 हजार रुपये देने, राशन कार्ड बनाने की मांग प्रमुख रूप से रही।

ये भी पढ़ें – देश की 42 साल सेवा करने के बाद सेवानिवृत्त हुए जनरल नरवणे, मनोज पांडे ने संभाला कार्यभार

यूनियन के संयोजक सुरेश राठौर कहाः
यूनियन के संयोजक सुरेश राठौर ने कहा कि मजदूरों को अपने हक के लिए संघर्ष करना पड़ेगा । दुनिया का सबसे बड़ा इमारत बनाने वाला मेहनत कश सड़कों पर सोने को बाध्य है। आज एक तरफ दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में हमारे देश के पूंजीपति का नाम आ रहा है। वहीं, दूसरी तरफ आज भी देश का एक बड़ा तबका है जिसको दो वक्त की रोटी नहीं नसीब हो रही है। जरूरत गरीबी रेखा तय करने की नहीं बल्कि अमीरी की रेखा तय करने की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here