हम कोरोना को 2022 में हरा सकते हैं लेकिन..! डब्ल्यूएचओ ने रखी ये शर्त

दुनिया का कोई भी देश आज कोरोना के प्रभाव से अछूता नहीं है। लेकिन सकारात्मक पक्ष यह है कि आज हमारे पास कोरोना से लड़ने के लिए बहुत सारे उपकरण उपलब्ध हैं।

कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट ने दुनिया भर में भय का माहौल पैदा कर दिया है। भारत में पिछले कुछ दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है। कहा जा रहा है कि देश में तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। इस पृष्ठभूमि में सभी लोगों के मन में एक ही सवाल उठ रहा है, यह कोरोना कब खत्म होगा। इसका कारण यह है कि इसकी वजह से देश-दुनिया के सभी लोग किसी न किसी रुप में प्रभावित हो रहे हैं। लोगों मे जहां संक्रमण का डर है, वहीं तरह-तरह के प्रतिबंधों के कारण भी परेशानियां पैदा होना तय है। इस स्थिति में डब्लयूएचओ ने कोरोना के खात्मे को लेकर आश्चर्यजनक बात कही है।

कोरोना खत्म करने के लिए यह है जरुरी
डब्ल्यूएचओ के प्रमुख डॉ. टेड्रोस अधनोम घेब्रेसयस ने कहा कि कोरोना को खत्म करने के लिए दुनिया भर में समानता लाना जरुरी है। हालांकि सभी देशों में बड़े पैमाने पर टीकाकरण शुरू किया गया है लेकिन एक बड़ी आबादी को अभी भी केवल एक खुराक या कोई टीका नहीं मिला है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि कोरोना को खत्म करने के लिए सभी देशों के नागरिकों का टीकाकरण जरुरी है। उन्होंने कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के लेकर दुनिया भर के लोगों को सतर्क करते हुए कहा कि इसे हल्के से लेने का गंभीर परिणाम हो सकता है।

क्या 2022 में खत्म हो जाएगा कोरोना का खेल?
डॉ. टेड्रोस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कोरोना और टीकाकरण को लेकर बात कही। उन्होंने कहा, “दुनिया का कोई भी देश आज कोरोना के प्रभाव से अछूता नहीं है। लेकिन सकारात्मक पक्ष यह है कि आज हमारे पास कोरोना से लड़ने के लिए बहुत सारे उपकरण उपलब्ध हैं। इसके अलावा, कोरोना रोगियों के इलाज के लिए दवाएं उपलब्ध हैं। हालांकि, दुनिया में जितनी अधिक असमानता होगी, वायरस उतना ही खतरनाक हो सकता है। हम उस बारे में कल्पना नहीं कर सकते या बचाव नहीं कर सकते ।”

ये भी पढ़ेंः कोरोना के बढ़ते आंकड़ों से कोहराम, ओमिक्रोन का आतंक भी जारी! इन राज्यों ने बढ़ाई चिंता

अगर कोरोना पर काबू पाना है तो…
टेड्रोस ने कहा, ‘अगर हमें कोरोना पर काबू पाना है तो असमानता को खत्म करना होगा। अगर हम असमानता को खत्म कर दें, तो कोरोना के संकट को खत्म कर सकते हैं। हम कोरोना महामारी के तीसरे वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं, मेरा मानना ​​है कि हम इस साल कोरोना को खत्म कर सकते हैं, लेकिन तभी जब हम एकजुट होकर काम करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here