इस स्वतंत्रता दिवस ‘करें रक्तदान, दें जीवनदान’… स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक की मुहिम में जुड़ें

जिस स्वतंत्रता के लिए क्रांतिकारियों ने अपना रक्त अर्पित किया उसकी 75वीं वर्षगांठ पर रक्तदान शिबिर आयोजित किया गया है। कोरोना की पार्श्वभूमि पर आयोजित यह रक्तदान शिबिर जीवन बचाने की क्रांति का रूपक है।

देश की जिस स्वतंत्रता के लिए स्वातंत्र्यवीर सावरकर और सैकड़ों क्रांतिकारियों ने जीवन अर्पण किया था, उस स्वतंत्रता प्राप्ति के 75वें वर्ष में देश प्रवेश कर रहा है। स्वतंत्रता के इस उत्सव को स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक विशेष रूप से आयोजित कर रहा है। जिसमें रक्तदान शिबिर का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए स्मारक ने सामान्य जनों से रक्तदान करने का आह्वान किया है।

कोरोना संक्रमण के कारण देश की रक्त पेढ़ियों में रक्त की कमी सामने आ रही है। जबकि, संक्रमितों के लिए भी रक्त की आवश्यकता बढ़ी है। मुंबई में प्रतिदिन रक्त की 1200 से 1500 बाटली की आवश्यकता है। इस कमी को पूर्ण करने के लिए स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक 15 अगस्त 2021 को रक्तदान शिबिर का आयोजन कर रहा है।

इसे मराठी में पढ़ें – स्वातंत्र्य दिनी सावरकर स्मारकात होणार रक्तदान शिबीर

प्लेटलेट दान भी संभव
75वें स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित रक्तदान शिबिर स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक, मुंबई अल्ट्रा और टाटा मेमोरियल रुग्णालय संयुक्त रूप से कर रहा है। इसमें कुछ बातों का सभी को ध्यान रखना होगा।

  • रक्तदान शिबिर सबेरे 8 बजे से रात 8 बजे तक चलेगा
  • स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक, छत्रपति शिवाजी महाराज उद्यान, दादर में होगा शिबिर
  • रक्तदान के अलावा प्लेटलेट दान भी किया जा सकता है
  • इच्छुक रक्तदाताओं के पंजीकरण के लिए संपर्क सूत्र – ७०२१९९८७९५, ९३२४०५१८४८, ९८२००००४००, ९९२०१४२१९५
  • इसके सह प्रयोजक हैं यू टू कैन रन, एनर्जल, एआरएल लैब, रोटरी क्लब ऑफ शिवाजी पार्क

ये भी पढ़ें – 370 समाप्ति वर्षगांठ: पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग का कारनामा, श्रीनगर में ‘तिरंगा’ फहराने से रोका

रक्तदाता रखें इसका भी ध्यान

  • पंजीकरण किये हुए लोग ही कर पाएंगे रक्तदान
  • शिबिर के समय सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से करना होगा पालन
  • रक्तदाताओं को मास्क पहनना व हाथों की स्वच्छता अनिवार्य
  • रक्तदाता की जांच के बाद ही लिया जाएगा रक्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here