Madhya Pradesh: आपके वोट ने भारत को पांचवीं बड़ी आर्थिक ताकत बनाया, दुनिया में …! पीएम मोदी ने की मतदाताओं की सराहना

प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि कांग्रेस नेताओं ने राम मंदिर जाने वाली एक कांग्रेस नेत्री को इतना प्रताड़ित किया कि उन्हें कांग्रेस ही छोड़नी पड़ गई।

338

Madhya Pradesh: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 7 मई को मध्यप्रदेश के खरगोन और धार में आयोजित जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि वे आज जनता से विकसित भारत के संकल्प के लिए आशीर्वाद मांगने आए हैं। सदियों से ये क्रम चल रहा है कि नर्मदा तट पर रहने वाला कभी भी मांगने वाले को निराश नहीं करता है। मैंने लाल किले से कहा था सबका प्रयास, देश सबके प्रयास और परिश्रम से ही आगे बढ़ेगा और आज देश जनता के समग्र प्रयासों से आगे बढ़ रहा है। जनता की दिन रात की मेहनत ही देश की ऊर्जा को बढ़ाती है और जब इस ऊर्जा को जनता के एक वोट की ताकत मिलती है तो देश का कायाकल्प होने लगता है।

दुनिया में बढ़ाया दबदबा
प्रधानमंत्री मादी ने कहा, जनता के वोट ने भारत को पांचवीं बड़ी आर्थिक ताकत बनाया, दुनिया में भारत का दबदबा बढ़ाया, 70 वर्ष बाद अनुच्छेद 370 हटाया, एक आदिवासी बेटी को राष्ट्रपति बनाया, महिलाओं को आरक्षण का हक दिलवाया, भ्रष्टाचारियों को जेल भिजवाया, मुफ्त राशन, मुफ्त इलाज की गारंटी दी, युवाओं के भविष्य को संवारा, अपार अवसर खड़े कर दिए और 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाल दिया। जनता के एक वोट की ताकत ने 500 वर्षों की प्रतीक्षा खत्म कर भगवान राम का भव्य मंदिर बना दिया और ये तो सिर्फ ट्रेलर है अभी तो बहुत कुछ करना बाती है।

इंडी गठबंधन पर साधा निशाना
मोदी ने कहा कि इंडी गठबंधन वाले सिर्फ अपनी विरासत बचाने के लिए और अपने बच्चों को अपनी पार्टी सौंप कर जाने के लिए ही चुनाव लड़ रहे हैं। इन्हें जनता के सुख-दुःख से कोई फर्क नहीं पड़ता। गठबंधन के नेता “अपना काम बनता और भाड़ में जाए जनता” के सिद्धांत पर चलते हैं। आज भारत इतिहास के एक अहम मोड़ पर खड़ा है और जनता को ये तय करना है कि भारत में वोट जिहाद चलेगा या राम राज्य। पाकिस्तान में आतंकी भारत के खिलाफ जिहाद की धमकी दे रहे हैं और भारत के कांग्रेस के नेताओं ने भी मोदी के खिलाफ वोट जिहाद करने की घोषणा कर दी है अर्थात एक खास धर्म के लोगों को एकजुट होकर मोदी के खिलाफ वोट करने को कहा जा रहा है। हताशा और निराशा ने कांग्रेस को उसके निम्नतम स्तर पर ले जाकर पटक दिया है। जनता को वोट जिहाद मंजूर नहीं है और भारत का संविधान भी इस जिहाद के लिए अनुमति नहीं देता है।

कांग्रेस की साजिश काफी खतरनाक
उन्होंने कहा कि कांग्रेस छोड़ने वाले नेताओं की बातें सुनकर समझा जा सकता है कि कांग्रेस की साजिश अत्यंत खतरनाक है। कांग्रेस नेताओं ने राम मंदिर जाने वाली एक कांग्रेस नेत्री को इतना प्रताड़ित किया कि उन्हें कांग्रेस ही छोड़नी पड़ गई। इसके अलावा कांग्रेस छोड़ने वाले अन्य नेताओं ने बताया है कि कांग्रेस पर माओवादियों ने कब्जा कर लिया है, राहुल गांधी का इरादा शाहबानो केस के निर्णय की तरह राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटने का है और पिछले दो वर्षों से कांग्रेस मोदी पर झूठे आरोप लगाने की बड़ी साजिश में जुटी है इसीलिए आज कल संविधान को लेकर झूठ फैलाया जा रहा है।

राष्ट्रविरोधी करते हैं बातें
मोदी ने कहा कि कांग्रेस और इंडी गठबंधन को न देश की आस्था की परवाह है और न ही देश हित की, ये लोग सिर्फ राष्ट्रविरोधी बातें करते हैं। मतदान के चरण जैसे- जैसे गुजर रहे हैं, वैसे-वैसे कांग्रेस का पाकिस्तान प्यार परवान चढ़ रहा है। पंजाब के पूर्व कांग्रेसी मुख्यगमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि भारतीय सेना ही आतंकी हमले करती है और पाकिस्तान निर्दोष है। देश का कोई भी नागरिक देश की सेना का ये अपमान नहीं सह सकता। कांग्रेस के एक अन्य बड़े नेता ने तो मुंबई आतंकी हमले में भी पाकिस्तान को निर्दोष ठहरा दिया। इस बात को तो भारत क्या पूरे विश्व का कोई व्यक्ति नहीं मान सकता।

फारुक अब्दुल्ला पर साधा निशाना
नरेंद्र मोदी का कहना रहा, कांग्रेस के सहयोगी दल के नेता फारुख अब्दुल्ला तो भारत को धमकी दे रहे हैं कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं। राहुल गांधी को इसका उत्तर देना होगा और बताना होगा कि पाकिस्तान से इतनी मोहब्बत और सेना से इतनी नफरत के पीछे की मंशा क्या है। इसीलिए जनता कहती है कि कांग्रेस का हाथ-पाकिस्तान जिंदाबाद। कांग्रेस को लगता है कि पाकिस्तान प्रेम दिखाकर अपनी वोटबैंक की राजनीति मजबूत कर लेगी लेकिन इनकी जमानत तक बचना मुश्किल है।

संविधान बदलने का झूठा आरोप
उन्होंने कहा कि हार की हताशा में कांग्रेस एक नई अफवाह उड़ा रही है कि मोदी को 400 सीटें मिल गईें तो वो संविधान बदल देगा। ऐसा लगता है जैसे कांग्रेस वालों की बुद्धि पर वोट बैंक का ताला पड़ गया है। 2014 से 2019 और 2019 से 2024 तक मोदी के पास एनडीए के रूप में 400 सीटों का समर्थन रहा ही है। मोदी ने 400 सीटों का इस्तेमाल 370 हटाने, एससी एसटी के आरक्षण को 10 वर्ष आगे बढ़ाने, एक आदिवासी बेटी को पहली बार देश का राष्ट्रपति बनाने और महिला आरक्षण के लिए किया। मोदी को 400 सीटें चाहिए जिससे कांग्रेस और इंडी गठबंधन की हर साजिश को रोक लग सके, कश्मीर में 370 फिर से न लागू कर सके, अयोध्या में राम मंदिर पर बाबरी ताला न लगा दे, देश की खाली जमीन और द्वीप दूसरे देशों को सौंप न दे और अनुसूचित जाति-जनजाति और ओबीसी के आरक्षण डाका न डाल पाए।

Lok Sabha elections: तीसरे चरण में शाम पांच बजे तक 60.19 प्रतिशत मतदान, असम में सबसे अधिक तो इस प्रदेश में सबसे कम हुई वोटिंग

लालू यादव का खतरनाक खेल
मोदी ने कहा कि चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव एससी, एसटी और ओबीसी का पूरा आरक्षण वर्ग विशेष को देने की बात कर रहे हैं। कांग्रेस तुष्टीकरण के दल-दल में इतना धंस चुकी है कि कांग्रेस तो अपनी चलने पर ये तक कह देगी ति देश में जीने का पहला हक भी वर्ग विशेष को है। कांग्रेस अपने घोषणापत्र में सरकारी टेंडरों और खेलों में धर्म के आधार पर अल्पसंख्यकों की हिस्सेदारी सुनिश्चित करने की बात कर रही है। अगर ऐसा करना ही था, तो आजादी के समय कांग्रेस ने भारत के तीन टुकड़े क्यों कर दिए और पूरे देश को पाकिस्तान ही क्यों नहीं बना दिया? जब तक मोदी जिंदा है तब तक नकली सेक्युलरिज्म के नाम पर भारत की पहचान मिटाने की कोई भी कोशिश सफल नहीं होने देगा।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.