Swachh Survekshan 2023: फिर चमकेगा यूपी, प्रदेश के इन शहरों को मिलेगा राष्ट्रपति पुरस्कार

उत्तर प्रदेश के ‘कचरा मुक्त शहर प्रमाण पत्र’ के संदर्भ में पिछले वर्ष 11 नगरों को ‘गार्बेज फ्री सिटी’ के रूप में मान्यता मिली थी, जबकि इस वर्ष ये संख्या बढ़कर 65 नगरों तक पहुंच गई है।

170

Swachh Survekshan 2023: के आगामी परिणामों में उत्तर प्रदेश के छह शहरों को विभिन्न पुरस्कार श्रेणियों में सम्मानित(Six cities of Uttar Pradesh honored in various award categories) किया जाएगा। 8 जनवरी को नगर विकास विभाग(Urban Development Department) की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 के परिणाम 11 जनवरी को नई दिल्ली में घोषित किए जाएंगे।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2023 में प्रदेश के वाराणसी और प्रयागराज को स्वच्छता में उनके अत्यधिक समर्पण के लिए ‘राष्ट्रपति पुरस्कार’(Varanasi, Prayagraj get ‘Presidential Award’ for their utmost dedication in cleanliness) से सम्मानित किया जाएगा। वहीं, राज्य स्तर पर नोएडा और क्षेत्र स्तर पर बरवार, अनूपशहर और गजरौला भी स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए सम्मानित किये जायेंगे।

प्रदेश के 648 नगरों ने प्राप्त किया ओडीएफ प्रमाणपत्र
पिछले वर्ष कुल 588 नगर ओडीएफ प्रमाणपत्र से सम्मानित हुए थे। जबकि इस साल प्रदेश के 648 नगरों ने ओडीएफ प्रमाणपत्र प्राप्त किया(648 cities of the state received ODF certificate) है, जो सकारात्मक प्रगति का प्रतीक है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के परिणामों के अनुसार, उत्तर प्रदेश में 129 शहरों ने ओडीएफ प्लस की स्थिति प्राप्त की है, जो की यह दर्शाते हैं कि वे खुले में शौच मुक्त और सतत कचरा प्रबंधन में मानकों का पालन कर रहे हैं। इसके अलावा प्रदेश के 435 नगरों ने ओडीएफ प्लस की स्थिति प्राप्त की है। वर्तमान में उत्तर प्रदेश के नगरों ने ओडीएफ की स्थिति प्राप्त की हैं, जो की प्रदेश में स्वच्छता को लेकर योगी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

Purple Festival 2024: अंतरराष्ट्रीय पर्पल उत्सव 2024 का गोवा में शुभारंभ आज 

कचरा मुक्त शहर प्रमाण पत्र
इसके अलावा ‘कचरा मुक्त शहर प्रमाण पत्र’ के संदर्भ में पिछले वर्ष 11 नगरों को ‘गार्बेज फ्री सिटी’ के रूप में मान्यता मिली थी, जबकि इस वर्ष ये संख्या बढ़कर 65 नगरों तक पहुंच गई है। इस श्रेणी में नोएडा ने फाईव स्टार रेटिंग हासिल की है। इसके अलावा, लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, कानपुर, गाज़ियाबाद, अलीगढ़, झांसी और फिरोजाबाद जैसे आठ शहरों ने सराहनीय थ्री स्टार रेटिंग हासिल की है।

56 नगरों को एक स्टार रेटिंग प्राप्त
इसके अलावा प्रदेश के 56 नगरों को एक स्टार रेटिंग प्राप्त हुई है, जो उनके कचरा मुक्त वातावरण के प्रति अडिग प्रतिबद्धता को प्रमाणित करती है। उत्तर प्रदेश के कई शहर अब सात स्टार रेटिंग की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इसके अलावा और अधिक शहरों को फाइव स्टार और थ्री स्टार रेटिंग हासिल करने के लिए सरकार की ओर से लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.