मां बहन पर मलिक को उत्तर, वानखेडे की पत्नी बोली हम हिंदू हैं

नार्कोटिक कंट्रोल ब्यूरो के विभागीय संचालक मुंबई में ड्रग प्रकरणों की जांच करते-करते खुद जांच की आंच में आ गए हैं। वानखेडे के परिवार पर टिप्पणियां की जा रही हैं, उनकी जाति पर प्रश्न उठाए जा रहे हैं, इस बीच आर्यन खान प्रकरण के एक साक्ष्य ने 25 करोड़ रुपए की रिश्वत का आरोप मढ़ दिया है। जिसके बाद वानखेडे की पत्नी ने भी कहा है कि वे और उनके पति ने कभी धर्म परिवर्तन नहीं किया।

समीर वानखेडे अपने ऊपर हो रहे शाब्दिक और भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर मुंबई सत्र न्यायालय पहुंचे थे। इसकी शीघ्रता से सुनवाई करते हुए सत्र न्यायालय ने इस पूरे प्रकरण की सुनवाई उच्च न्यायालय में शुरू होने के कारण कोई भी अंतरिम आदेश देने से इन्कार कर दिया। समीर वानखेडे की दिक्कतों को देखकर ट्विटर पर उनके चाहनेवाले समर्थन में उतर आए हैं।

ये भी पढ़ें – दूर के रिश्तेदार हैं समीर वानखेड़े और मलिक? ‘नवाब’ ने किया रहस्योद्घाटन

जारी किया प्रेस नोट
समीर वानखेडे ने कहा है कि, जांच से ध्यान हटाने के लिए उन्हें और उनके परिवार को निशाना बनाया जा रहा है। अपनी जाति को लेकर उन्होंने सफाई दी है कि, उनकी मां मुस्लिम थीं और पिता हिंदू थे। समीर ने अपने प्रेस स्टेटमेंट में लिखा है कि, मैं यह बताना चाहता हूं कि, मेरे पिता ज्ञानदेव कचरूजी वानखेडे (सेवा निवृत्त सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर – आबकारी विभाग) हिंदू थे और मेरी पाता श्रीमती जाहिदा मुसलमान थीं। मैं एक बहुधर्मीय, सेक्यूलर और सच्चे भारतीय परंपराओं के परिवार से हूं, मुझे इसका गर्व है। मैंने 2006 में डॉ.शबाना कुरेशी से विवाह किया था। हम दोनों ने आपसी सहमति से 2016 में तलाक ले लिया, इसके बाद मैंने क्रांति दीनानाथ रेडकर से शादी की है।

हम हिंदू
समीर वानखेडे पर हो रहे राजनीतिक हमलों पर उनकी पत्नी क्रांति रेडकर वानखेडे ने ट्वीट कर लिखा है, मैं और मेरे पति समीर जन्म से हिंदू हैं। हमने कभी धर्मांतरण नहीं किया। हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। समीर के पिता भी हिंदू थे, जिन्होंने मेरी मुस्लिम सास से विवाह किया था, जो अब नहीं हैं। समीर की पहली शादी स्पेशल मैरिज के अंतर्गत हुई थी, उनका 2016 में तलाक हो गया है। हमारा विवाह हिंदू मैरिज एक्ट 2017 के अंतर्गत हुआ है।

मंत्री ने पूछा लेडी डॉन कौन?
नवाब मलिक ने सोशल मीडिया पर सार्वजनिक हुई समीर वानखेडे की बहन की फोटो को लेकर भी ट्वीट किया था। फोटो पर लिखे गए लेडी डॉन पर नवाब मलिक ने टिप्पणी की थी। इसके अलावा वानखेडे के एक तथाकथित जन्म प्रमाण पत्र को सोशल मीडिया पर साझा किया था। जिस पर वानखेडे ने इसे निजता का हनन बताया है।

क्या है प्रकरण?
समीर वानखेडे नार्कोटिक कंट्रोल ब्यूरो के मुंबई विभागीय संचालक हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद मादक पदार्थों की तस्करी प्रकरणों के जांच अधिकारी हैं। इसके बाद से ही उन्होंने बॉलीवुड और मुंबई में ड्रग्स सप्लायर, ड्रग पैडलर और सेवन करनेवालों के विरुद्ध मुहिम ही छेड़ दिया। उनके इस कार्य का परिणाम ये हुआ की बॉलीवुड कई अभिनेता-अभिनेत्री भी जांच की आंच में आ गए। इस कार्रवाई में नवाब मलिक के दामाद और शाहरुख के बेटे आर्यन खान भी पकड़े गए। जिसके बाद अब समीर वानखेडे भी निशाने पर आ गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here