Uttarakhand: चार धाम यात्रा पर जा रहे हैं तो ये खबर जरुर पढ़ लें!

उत्तराखंड में 10 मई से चारधाम यात्रा की शुरुआत हो रही है। 10 मई को श्रीकेदारनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

349

Uttarakhand में 11 मई से मौसम बदलने के आसार हैं। मौसम वैज्ञानिकों(Meteorologists) का पूर्वानुमान है कि 11 से 13 मई तक प्रदेश भर में हल्की बारिश होने की संभावना(Possibility of light rain) है, लेकिन उच्च हिमालय क्षेत्र(High Himalayan region) में अच्छी बारिश (Good rain)होगी। 10 मई से चारधाम यात्रा(Chardham Yatra) शुरू हो रही है तो 11 मई से बारिश का सिलसिला(Sequence of rains) पूरे प्रदेश में बढ़ेगा। तापमान में गिरावट(Drop in temperature) होने से ठंड बढ़ने के आसार हैं। ऐसे में चारधाम यात्रा पर भी इसका असर पड़ेगा।

श्रद्धालुओं के लिए अलर्ट जारी
मौसम विभाग के निदेशक डा. बिक्रम सिंह ने बताया कि जो भी यात्री चारधाम यात्रा पर आ रहे हैं,  उनको पूरी तैयारी के साथ आना होगा। दरअसल, 10 मई से उत्तराखंड में चारधाम यात्रा शुरू हो रही है और 11 मई से मौसम का मिजाज बदल जाएगा। खासकर उच्च हिमालय क्षेत्र में बारिश होने के अधिक आसार हैं, जिससे तापमान में गिरावट होगी और ठंड भी बढ़ेगी। हालांकि 11 मई से पहले भी प्रदेश के कुछ हिस्सों में बारिश की संभावना है। सात से 11 मई तक झोंकेदार हवाएं चलने और ऊंची चोटियों पर बर्फबारी का पूर्वानुमान है।

बारिश होने का पूर्वानुमान
मौसम विभाग के निदेशक ने बताया कि चारधाम से जुड़े मार्ग पर सुबह के समय बारिश कम होगी। इससे हेली सेवा में बहुत ज्यादा दिक्कत नहीं होगी, लेकिन दिन चढ़ने से लेकर शाम ढलने तक मौसम में बदलाव होगा और बारिश भी होगी। ऐसे में चारधाम आने वाले यात्रियों के लिए थोड़ी दिक्कतें हो सकती है, इसलिए यात्रियों को तैयारी के साथ आने की सलाह दी है।

Lok Sabha elections: तीसरे चरण में तीन बजे तक 50.71 प्रतिशत मतदान, महाराष्ट्र में सबसे कम तो इस प्रदेश में डाले गए सबसे अधिक वोट

10 मई से शुरू होगी चारधाम यात्रा
उत्तराखंड में 10 मई से चारधाम यात्रा की शुरुआत हो रही है। 10 मई को श्रीकेदारनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। जबकि भगवान बद्री विशाल के कपाट 12 मई को खुलेंगे। ऐसे में यदि यात्रा की शुरुआत में ही चारों धाम में बारिश होती है तो यात्रियों के लिए मुसीबत पैदा हो सकती है। हालांकि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के बाद सरकारी तंत्र भी अलर्ट हो गया है। चारों धामों में आने के लिए अब तक 21 लाख के करीब श्रद्धालु रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.