ऐसी कैसी कहासुनी कि डॉक्टर दंपति ऐसा कर बैठे!

30 जून को फोन पर पति-पत्नी में बहस हुई थी। उस समय निखिल काम से घर आ रहे थे। बहस के बाद पत्नी ने गुस्से में फोन काट दिया था।

महाराष्ट्र के पुणे में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस यानी नेशनल डॉक्टर्स डे पर एक डॉक्टर दंपति द्वारा आत्महत्या करने की ससनीखेज घटना घटी है। इस पति-पत्नी ने अपने घर में मौत को गले लगा लिया। 1 जुलाई की सुबह घटी इस घटना की सूचना मिलते ही पुणे वानवड़ी थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई। आत्महत्या करने वाले डॉक्टर का नाम निखिल दत्तात्रेय शेंडकर और उनकी पत्नी अंकिता शेंडकर है। निखिल की उम्र मात्र 27 साल थी, जबकि अंकिता 26 साल की थीं।

पुलिस के अनुसार दोनों पुणे के वानवड़ी के आजादनगर क्षेत्र में रहते थे और ये अलग-अलग जगहों पर प्रैक्टिस करते थे। पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार छोटी-मोटी बातों को लेकर दोनों में अक्सर कहासुनी होती थी।

फोन पर हुई थी कहासुनी
30 जून को भी फोन पर दोनों में बहस हो गई थी। उस समय निखिल काम से घर आ रहे थे। इस बहस के बाद अंकिता ने गुस्से में फोन काट दिया था। उसके बाद निखिल जब घर पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। उनकी पत्नी अंकिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। निखिल इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर पाए और 1 जुलाई की सुबह उन्होंने भी अपनी जान दे दी। सूचना मिलने के बाद पुणे की वानवड़ी थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई। वह आत्महत्या का मामला दर्ज कर जांच में जुटी है।

ये भी पढ़ेंः लाल किले पर झंडा फहरानेवाला नहीं होगा गिरफ्तार, ये है कारण

नेशनल डॉक्टर्स डे पर दुखद समाचार
मृतक निखिल बीएएमएस थे तो अंकिता बीएचएमएस थी। 1जुलाई को जब नेशनल डॉक्टर्स डे पर डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के जज्बे को सलाम किया जा रहा है, ऐसे समय में यह दुखद खबर सुनकर सबके चेहरे बुझ जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here