जानिये, पीएम के ‘मन की बात!’

पीएम ने 'मन की बात' में कहा कि कोरोना की पहली लहर का सफलतापूर्वक मुकाबला करने के बाद देश हौसले से भरा हुआ था, आत्मविश्वास से भरा हुआ था, लेकिन इस तूफान ने देश को झकझोर दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 अप्रैल को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में कई मुद्दों पर प्रकाश डाला। यह उनके मन की बात 2.0 का 23वां और कुल 76वां संस्करण था। पीएम ने इस कार्यक्रम में लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना को लेकर कोई भी गलतफहमी न पालें और केवल विशेषज्ञों की ही सलाह को मानें। उन्होंने कार्यक्रम में सभी लोगों से टीका लगवाने की अपील की।

पीएम ने कहा कि कोरोना की पहली लहर का सफलतापूर्वक मुकाबला करने के बाद देश हौसले से भरा हुआ था, आत्मविश्वास से भरा हुआ था, लेकिन इस तूफान ने देश को झकझोर दिया है।

ये भी पढ़ेंः ताकि न थमे जिंदगी! महाराष्ट्र को मिली प्राण वायु की पहली खेप

पीएम ने कही ये बात

  • आज आपसे मन की बात ऐसे समय कर रहा हूं, जब कोरोना, हम सभी के धैर्य, हम सभी के दुःख बर्दाश्त करने की सीमा की परीक्षा ले रहा है। बहुत से अपने, हमें, असमय, छोड़ कर चले गए हैं।
  • कोरोना की पहली वेव का सफलतापूर्वक मुकाबला करने के बाद देश हौंसले से भरा हुआ था, आत्मविश्वास से भरा हुआ था, लेकिन इस तूफान ने देश को झकझोर दिया है।
  • इस समय, हमें इस लड़ाई को जीतने के लिए, एक्सपर्ट और वैज्ञानिक सलाह को प्राथमिकता देनी है। राज्य सरकार के प्रयत्नों को आगे बढ़ाने में भारत सरकार पूरी शक्ति से जुटी हुई है। राज्य सरकारें भी अपना दायित्व निभाने की पूरी कोशिश कर रही हैं।
  • मैं आप सबसे आग्रह करता हूं, आपको अगर कोई भी जानकारी चाहिए हो, कोई और आशंका हो, तो सही सोर्स से ही जानकारी लें। आपके जो फेमिली डॉक्टर हों, आसपास के जो डॉक्टर्स हों, आप उनसे फोन से संपर्क करके सलाह लीजिय
  • अब तो 1 मई से देश में 18 साल के ऊपर के हर व्यक्ति के लिए वैक्सीन उपलब्ध होने वाली है। अब देश का कॉरपोरेट कम्पनियां भी अपने कर्मचारियों को वैक्सीन लगाने के अभियान में भागीदारी निभा पाएंगी।
  •  कोरोना के इस संकट काल में वैक्सीन की अहमियत सभी को पता चल रही है, इसलिए, मेरा आग्रह है कि वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह में न आयें।
  • भारत सरकार की तरफ से मुफ्त वैक्सीन का जो कार्यक्रम अभी चल रहा है, वो, आगे भी चलता रहेगा। मेरा राज्यों से भी आग्रह है, कि, वो भारत सरकार के इस मुफ्त वैक्सीन अभियान का लाभ अपने राज्य के ज्यादा-से-ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं।
  • गांवों में भी नई जागरूकता देखी जा रही है। कोविड नियमों का सख्ती से पालन करते हुए लोग अपने गांव की कोरोना से रक्षा कर रहे हैं, बाहर से आने वालों के लिए सही व्यवस्थाएं भी बनाई जा रही हैं। ये प्रयास समाज की शक्ति बढ़ाते हैं।
  • जैसे आज हमारे मेडिकल फील्ड के लोग, फ्रंटलाइन वर्कर्स दिन-रात सेवा कार्यों में लगे हैं। वैसे ही समाज के अन्य लोग भी, इस समय, पीछे नहीं हैं। देश के अलग-अलग कोने में स्वयं सेवी संगठन आगे आकर दूसरों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।
  • आज भगवान महावीर जयंती भी है। इस अवसर पर मैं सभी देशवासियों को शुभकामनाएं देता हूं। भगवान महावीर के संदेश, हमें, तप और आत्म संयम की प्रेरणा देते हैं।
  • डॉक्टर नावेद नजीर शाह (श्रीनगर) से कोरोना उपचार और वैक्सीन पर बातचीत की। डॉक्टर नावेद ने पीएम के साथ अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि यदि हम सुरक्षा के सारे उपाय और एसओपी पर अमल करेंगें तो अपना रोजमर्रा का काम भी बखूबी कर सकते हैं।
  • डॉक्टर नावेद ने बताया कि अभी तक हमारे यहां उपलब्ध वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं पाया गया है। वैक्सीन के संबंध में जो भी भ्रम हैं, उसे हमें दिमाग से निकालने चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here