Maharashtra में बनेगा मां कामाख्या मंदिर, असम के मुख्यमंत्री ने की यह घोषणा

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने जिस समय महाराष्ट्र में मुगलों के साथ लड़ाई लड़ी थी, उसी समय में असम में लचित बरफूकन ने भी औरंगजेब की सेना को परास्त किया था।

414

मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा ने कहा है कि महाराष्ट्र में एक भव्य मां कामाख्या का मंदिर निर्माण कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने 13 नवंबर को मीडिया को दिए गए एक साक्षात्कार में कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने उन्हें मुंबई में मां कामाख्या मंदिर बनाने के लिए उपयुक्त भूमि उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया था। उसी दिशा में विचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे पूरे देश में सांस्कृतिक आदान-प्रदान करना चाहते हैं। जिस प्रकार काशी विश्वनाथ कॉरिडोर बनाया गया है, उसी प्रकार असम में भी कामाख्या कॉरिडोर पर काम चल रहा है।

इन वीर पुरुषों को किया याद
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने जिस समय महाराष्ट्र में मुगलों के साथ लड़ाई लड़ी थी, उसी समय में असम में लचित बरफूकन ने भी औरंगजेब की सेना को परास्त किया था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सलाह से वे लचित बरफूकन को देश भर में पहुंचाना चाहते हैं।

अधिकारियों के तबादले की छूट
एक प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि असम में उन्होंने अधिकारियों को तबादले करने की खुली छूट दे रखी है, ताकि वे अपने अनुसार अधिकारियों को तैनात कर सकें। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्तर पर वे कार्य कर रहे हैं। साक्षात्कार के दौरान मुख्यमंत्री ने अन्य कई सवालों के खुलकर उत्तर दिए।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.