उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में आकाशीय बिजली ने ढाया कहर, 67 लोगों की मौत

यूपी, राजस्थान और एमपी में 11 जुलाई को गरज के साथ हुई बारिश के दौरान आकाशीय बिजली लोगों पर कहर बनकर गिरी। मृतकों में हर उम्र के लोग शामिल हैं।

उत्तर प्रदेश के साथ ही मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी आकाशीय बिजली का कहर बरपा है। इन राज्यों में अलग-अलग घटनाओं में 67 लोगों की जान चली गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूसलाधार बारिश के साथ ही आकाशीय बिजली गिरने से उत्तर प्रदेश में 40, राजस्थान में 20 और मध्य प्रदेश में 7 लोगों की मौत हो गई है। इस प्राकृतिक आपदा पर प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की है। उत्तर प्रदेश में मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख जबकि राजस्थान में पांच-पांच लाख देने की घोषणा की गई है।

उत्त प्रदेश में सबसे ज्यादा लोगों की गई जान
उत्तर प्रदेश में 11 जुलाई को मूसलाधार बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से 40 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी ,जबकि 24 से ज्यादा लोग झुलस गए। केवल प्रयागराज में ही वज्रपात से 13 लोगों की जान चली गई, जबकि चार लोग झुलस गए। इसके साथ ही कौशांबी में चार और प्रतापगढ़ में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि कानपुर में बिजली के कहर ने 16 लोगों को मौत की नींद सुला दिया, वहीं 14 लोग झुलस गए।

सीएम योगी जताया दुख
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज जिले के कोरांव, बारा, करछाना और सोरांव में बिजली गिरने से हुई लोगों की मौत पर शोक और संवेदना व्यक्त की है। सीएम ने मृतकों के परिजनों को समुचित राहत राशि वितरित करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही घायलों के उपचार कराने के भी निर्देश दिए हैं।

इनकी हुई मौत
बता दें कि प्रयागराज के आसपास के जिलों में 11 जुलाई को गरज के साथ हुई बारिश के दौरान आकाशीय बिजली लोगों पर कहर बनकर गिरी। मृतकों में एक बच्चा, दो किशोर, तीन किशोरी और तीन महिलाएं तथा कुछ बुजुर्ग भी शामिल हैं।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्रः विधानसभा अध्यक्ष पद पर पवार का बड़ा बयान!

मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख देने की घोषणा
प्रयागराज के डीएम एमपी सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा। इस घटना में कई गाय-भैंस के साथ ही बकरे-बकरियों की भी मौत हो गई है। मौसम विभग के अनुसार प्रदेश में मानसून का आगमन हो गया है और आने वाले दिनों में तेज बारिश होने की संभावना है। 11 जुलाई को कानपुर में करीब 30 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here