Finolex Cables: नया फिनोलेक्स तार हुआ फिनोग्रीन इको-सेफ, बिजली की भी होगी बचत

विशेष रूप से तैयार किए गए थर्मोप्लास्टिक इन्सुलेशन HFI-TP 70, के साथ निर्मित फिनोग्रीन तार, कम धुआं छोड़ने और शून्य हैलोजन उत्सर्जित करने का दावा करते हैं, जिससे उनकी पर्यावरण-हितैषी प्रोफ़ाइल और आगे बढ़ती है।

127
xr:d:DAF77s9uzIQ:802,j:6847021163174431367,t:24040416

Finolex Cables: अपने अत्याधुनिक विद्युत समाधानों के लिए मशहूर फिनोलेक्स केबल्स (Finolex Cables) ने सुरक्षा एवं सस्टेनेबिलिटी (sustainability) पर सर्वाधिक बल देते हुए, फिनोग्रीन इको-सेफ सिंगल कोर हैलोजन फ्री फ्लेम रिटार्डेंट (एचएफएफआर) इंडस्ट्रियल केबल (industrial cable) पेश कर दी हैं। रिसाइकल करने योग्य कच्चे माल से तैयार किए गए ये पर्यावरण के प्रति जागरूक तार, न्यूनतम धुआं उत्सर्जित (Minimum smoke emitted) करते हैं तथा इनमें हैलोजन बिलकुल मौजूद नहीं होतीं। ये विशेषताएं फिनोलेक्स केबल्स की सस्टेनेबिलिटी के प्रति अटूट प्रतिबद्धता से पूरी तरह मेल खाती हैं।

विशेष रूप से तैयार किए गए थर्मोप्लास्टिक इन्सुलेशन HFI-TP 70, के साथ निर्मित फिनोग्रीन तार, कम धुआं छोड़ने और शून्य हैलोजन उत्सर्जित करने का दावा करते हैं, जिससे उनकी पर्यावरण-हितैषी प्रोफ़ाइल और आगे बढ़ती है। खास बात यह है कि फिनोग्रीन तारों की पैकेजिंग को सोच-समझकर हरे बक्सों में डिज़ाइन किया गया है, जो पर्यावरण-संबंधी जागरूकता का प्रतीक है और उत्पाद के टिकाऊ गुणों का स्पष्ट बखान करती है।

यह भी पढ़ें- PoK: पीओके को लेकर विदेश मंत्री ने कही यह बात, बोले- भारत का रुख साफ…

दुर्घटनाओं को टालने में बेहद अहम भूमिका
विद्युत संस्थापनों में सुरक्षा जोखिम घटाने के लिए डिज़ाइन की गईं ये केबल, दुर्घटनाओं को टालने में बेहद अहम भूमिका निभाती हैं, खासकर आग लगने की घटनाओं को, जो प्रायः टर्मिनेशन या ज्वाइंट वाली जगहों पर विद्युत स्पार्किंग की वजह से घटित हुआ करती है। फिनोग्रीन तार से बहुत ही कम धुआं निकलता है, जिससे आग लग जाने की सूरत में बेहतर दृश्यता और हाइड्रोक्लोरिक एसिड गैस का न्यूनतम उत्सर्जन सुनिश्चित होता है। इस प्रकार सुरक्षित निकासी में सुविधा हो जाती है और संभावित नुकसान कम होता है।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections 2024: कांग्रेस में हाहाकार, एक दिन में इन दो वरिष्ठ नेताओं से छोड़ा साथ

नवाचार की अहम भूमिका
फिनोलेक्स केबल्स में सेल्स एवं मार्केटिंग के प्रेसीडेंट अमित माथुर ने इस नवाचार की अहमियत पर जोर देते हुए कहा, “सुरक्षा अब भी हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, और फिनोग्रीन तार विद्युत संस्थापनों में उच्चतम सुरक्षा मानक कायम रखने की दिशा में हुई महत्वपूर्ण प्रगति का प्रतीक हैं।” श्री माथुर ने गगनचुम्बी इमारतों, शॉपिंग मॉल, हवाई अड्डों और कड़ी सुरक्षा वाले क्षेत्रों सहित, उन तमाम परिवेशों में इस्तेमाल करने के लिए इन केबल की उपयुक्तता पर प्रकाश डाला, जहां कड़े सुरक्षा मानकों को लेकर कोई समझौता नहीं किया जा सकता। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा, “अपनी बेमिसाल सुरक्षात्मक सुविधाओं के अलावा, हमारे पर्यावरण-हितैषी तार सस्टेनेबिलिटी के प्रति अटूट प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हैं। सुरक्षित और ज्यादा टिकाऊ भविष्य को गढ़ने में जिम्मेदारी भरा नवाचार केंद्रीय भूमिका निभाता है।”

यह भी पढ़ें- ‘IndiaBoycott’ Campaign: बांग्लादेश में भारत विरोधी कैंपेन पर विदेश मंत्रालय ने कही यह बात

इंसुलेटेड इंडस्ट्रियल केबल्स
फिनोग्रीन सिंगल कोर एचएफएफआर (लो स्मोक एंड ज़ीरो हैलोजन) इंसुलेटेड इंडस्ट्रियल केबल्स 1100 वी एसी, 50 हर्ट्ज तक का वोल्टेज धारण करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, जो बिजली और प्रकाश व्यवस्थाओं की जरूरतें पूरी करते हैं, तथा कम तापमान वाले अनुप्रयोगों के लिए पूर्णतः उपयुक्त हैं। आग बुझाने वाले अपने शानदार गुणों और स्थायित्व के बल पर, ये तार लंबे समय तक टिकते हैं और इनको उन संस्थापनों में इस्तेमाल करने की सिफारिश की जाती है, जहां सुरक्षा सर्वोपरि है।

यह भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.