सिलक्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों को एक-एक लाख की आर्थिक मदद, धामी सरकार ने किए और फैसले, जानें क्या

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि बाबा बौखनाग और देवभूमि के देवी-देवताओं की कृपा से ऑपरेशन सफल हुआ है। बौखनाग देवता का सिलक्यारा में भव्य मंदिर बनाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए गए हैं।

389

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री ने कहा कि सिलक्यारा सुरंग (Silkyara tunnel) में फंसे सभी श्रमिकों (workers) को सरकार एक-एक लाख रुपये की आर्थिक मदद (financial assistance) देगी। इसके अलावा अस्पताल में इलाज और घर जाने तक की पूरी व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Chief Minister Pushkar Singh Dhami) ने कहा कि बौख नाग देवता का सिलक्यारा में भव्य मंदिर बनाया जाएगा।

अस्पताल खर्च के साथ घर जाने तक की व्यवस्था सरकार की
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सुरंग में फंसे सभी श्रमिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में इलाज पर होने वाला खर्चा सरकार उठाएगी। इनके अलावा परिजनों और श्रमिकों के खाने, रहने की भी व्यवस्था सरकार कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिकों के स्वस्थ होने पर सरकार की तरफ से एक एक लाख रुपये के चेक बतौर आर्थिक सहायता के रूप में दिए जाएंगे। इसके अलावा घर जाने तक का पूरा खर्चा भी सरकार वाहन करेगी।

बौखनाग देवता का बनेगा भव्य मंदिर
मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि बाबा बौखनाग और देवभूमि के देवी-देवताओं की कृपा से ऑपरेशन सफल हुआ है। बौखनाग देवता का सिलक्यारा में भव्य मंदिर बनाया जाएगा। इसके लिए अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा बौखनाग के आशीर्वाद से सभी श्रमिक सुरक्षित बाहर निकल आये हैं। ग्रामीणों ने बाबा बौखनाग के मंदिर बनाने की मांग उठाई है। इस मांग को सरकार पूरा करेगी। इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि जल्द मंदिर निर्माण की कार्रवाई शुरू कर दी जाए।

यह भी पढ़ें – विश्व को उसी की भाषा में समझानी होगी पंचगव्य की प्रमाणिकता : Dr. Mohan Bhagwat

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.