प्रधानमंत्री ने की मन की बात, ‘कैशलेस डे आउट’ प्रयोग पर कही ये बात

प्रधानमंत्री ने दिल्ली की सागरिका और प्रेक्षा के अनूठे प्रयोग की जानकारी साझा करते हुए कहा कि क्या आप सोच सकते हैं कि कोई अपने घर से ये संकल्प लेकर निकले कि वो आज दिनभर पूरा शहर घूमेगा और एक भी पैसे का लेन-देन नकद में नहीं करेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नागरिकों के अनूठे ‘कैशलेस डे आउट’ प्रयोगों का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश भर में डिजिटल भुगतान को तेजी से अपनाने को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि छोटे ऑनलाइन भुगतान एक बड़ी डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने में मदद कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात को संबोधित करते हुए कहा कि छोटे-छोटे भुगतानों ने देश में एक बड़ी डिजिटल अर्थव्यवस्था का निर्माण किया है। प्रतिदिन 20,000 करोड़ रुपये का ऑनलाइन लेनदेन किया जाता है। पिछले मार्च में यूपीआई ट्रांजेक्शन 10 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया।

प्रधानमंत्री ने दिल्ली की सागरिका और प्रेक्षा के अनूठे प्रयोग की जानकारी साझा करते हुए कहा कि क्या आप सोच सकते हैं कि कोई अपने घर से ये संकल्प लेकर निकले कि वो आज दिनभर पूरा शहर घूमेगा और एक भी पैसे का लेन-देन नकद में नहीं करेगा। यूपीआई क्यूआर कोड के कारण उन्हें नकदी निकालने की जरूरत ही नहीं पड़ी। स्ट्रीट फूड और रेहड़ी-पटरी की दुकानों पर भी ज्यादातर उन्हें ऑनलाइन भुगतान की सुविधा मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here