INS Shivaji: हरित प्रौद्योगिकी को अपनाने में भारत की बड़ी छलांग, जानें क्या है खास

यह कदम 2028 से एचएफसी और एचसीएफसी आधारित सिंथेटिक रेफ्रिजरेंट को चरणबद्ध तरीके से बंद करने से संबंधित 2016 के किगाली समझौते के प्रति भारत की प्रतिबद्धता के अनुरूप है

143

नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार (Navy Chief Admiral R Hari Kumar) ने 17 जनवरी 24 को आईएनएस शिवाजी (INS Shivaji) में अनूठे CO2 आधारित एयर कंडीशनिंग प्लांट का उद्घाटन (Inauguration of air conditioning plant) किया। यह एसी प्लांट अपनी तरह का पहला है और जहाजों पर एचएफसी (हाइड्रो फ्लोरो कार्बन) और एचसीएफसी (हाइड्रो क्लोरो फ्लोरो कार्बन) आधारित एयर कंडीशनिंग सिस्टम को प्रतिस्थापित करने के लिए तैयार है।

भारतीय प्रदिबद्धता की पहल
यह कदम 2028 से एचएफसी और एचसीएफसी आधारित सिंथेटिक रेफ्रिजरेंट को चरणबद्ध तरीके से बंद करने से संबंधित 2016 के किगाली समझौते के प्रति भारत की प्रतिबद्धता के अनुरूप है और ट्रांसक्रिटिकल CO2 आधारित एयर कंडीशनिंग प्लांट इस दिशा में पहला कदम है। यह तकनीक जलवायु परिवर्तन से निपटने के वैश्विक प्रयासों के अनुरूप है और टिकाऊ हरित विकल्पों की दिशा में भारतीय नौसेना की पहल का समर्थन करती है।

स्मार्ट प्रौद्योगिकी एकीकरण से सुसज्जित
यह एयर कंडीशनिंग प्लांट उन्नत डिजिटल नियंत्रण प्रणाली और प्लांट को चलाने के लिए किफायती जनशक्ति वाली स्मार्ट प्रौद्योगिकी एकीकरण से सुसज्जित है। इस प्रणाली को आईआईएससी, बैंगलोर के सहयोग से विकसित किया गया है, जो सशस्त्र बलों में भविष्य की प्रौद्योगिकी को शामिल करने की दिशा में रक्षा-अकादमिक तालमेल को बढ़ावा देने का सबूत है। इस प्रौद्योगिकी की सफलता न केवल नौसेना को अत्याधुनिक मशीनरी प्रदान करेगी, बल्कि वाणिज्यिक एयर कंडीशनिंग और प्रशीतन बाजार में व्यापक अनुप्रयोग की क्षमता भी प्रदान करेगी।

इनकी रही उपस्थिति
उद्घाटन समारोह में आईएनएस शिवाजी के कमांडिंग ऑफिसर कमोडोर मोहित गोयल, बैंगलोर स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) के सीईओ एवं एफएसआईडी प्रोफेसर बी गुरुमूर्ति,  टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ अमित शर्मा और बैंगलोर स्थित त्रिवेणी टर्बाइन लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक अरुण मोटे भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें – PM Modi विकसित भारत संकल्प यात्रा लाभार्थियों से आज करेंगे बात, पढ़ें क्या है उद्देश्य

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.