Navy Chief ने ‘इंफाल’ को बताया दुश्मन पर आग उगलने वाला युद्धपोत

नौसेना प्रमुख ने विश्वास जताया कि प्रोजेक्ट 15 बी का चौथा स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक ‘सूरत’ 2024 में कमीशन किया जाएगा।

155

नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार (Admiral R Hari Kumar) ने मंगलवार को मुंबई में स्वदेशी स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक ‘इंफाल’ (Indigenous stealth guided missile destroyer ‘Imphal’) की कमीशनिंग के मौके पर इस युद्धपोत (warship) को दुश्मन पर आग उगलने (spews fire) वाला बताया। उन्होंने इसे सरकार के ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ विजन के प्रमाण की संज्ञा दी। नौसेना प्रमुख (Navy Chief) ने विश्वास जताया कि प्रोजेक्ट 15 बी का चौथा स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक ‘सूरत’ 2024 में कमीशन किया जाएगा।

नौसेना की दृढ़ प्रतिबद्धता का शानदार प्रतीक
अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आईएनएस इंफाल रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता का विजन हासिल करने की दिशा में भारतीय नौसेना की दृढ़ प्रतिबद्धता का शानदार प्रतीक है। उन्होंने आगे कहा कि यह जहाज न केवल समुद्र से उत्पन्न होने वाले भौतिक खतरों से निपटेगा बल्कि यह एक एकीकृत देश की शक्ति का भी प्रदर्शन करेगा। नौसेना प्रमुख ने कहा कि आईएनएस इंफाल राष्ट्रीय एकता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करने वाली विभिन्न योजनाओं को रोक देगा तथा यह दुश्मन पर आग उगलकर विपरीत परिस्थितियों में अदम्य संकल्प का प्रदर्शन करेगा।

चौथा स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक ‘सूरत’ का कमीशन 2024 में 
नौसेना प्रमुख ने विश्वास जताया कि प्रोजेक्ट 15 बी का चौथा स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक ‘सूरत’ 2024 में कमीशन किया जाएगा। आईएनएस इंफाल के शामिल किए जाने से पहले एक ही श्रेणी के दो विध्वंसक आईएनएस विशाखापत्तनम और आईएनएस मोरमुगाओ को नौसेना में क्रमशः 2021 और 2022 में शामिल किया गया था। एडमिरल आर हरि कुमार ने बताया कि लाल सागर में व्यापारिक जहाजों पर समुद्री डकैती और ड्रोन हमलों के बाद भारतीय नौसेना ने प्रोजेक्ट 15 बी और 15 ए श्रेणी के चार विध्वंसक जहाज तैनात किए हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन खतरों का मुकाबला करने के लिए पी-8 आई विमान, डोर्नियर्स, सी गार्डियन, हेलीकॉप्टर और तटरक्षक जहाज सभी को संयुक्त रूप से तैनात किया गया है।

नौसेना का लक्ष्य हर गांव से अग्निवीर
नौसेना प्रमुख ने कहा कि नौसेना का लक्ष्य देश के प्रत्येक जिले, प्रत्येक ब्लॉक और प्रत्येक गांव से कम से कम एक अग्निवीर को शामिल करना है। उन्होंने कहा कि नौसेना की रणनीति देश के हर कोने से युवाओं-पुरुषों और महिलाओं को आकर्षित करना, सेवा में रहने के दौरान उन्हें कुशल बनाना, शिक्षा संस्थानों के माध्यम से उनकी क्षमताओं को प्रमाणित करना, राष्ट्रवाद की भावना पैदा करना और यह सुनिश्चित करना है कि वे नौसेना में अपनी नौकरी के बाद असैनिक क्षेत्र में फिर से एक बहुत उपयोगी व्यक्ति के रूप में शामिल हो सकें। हमारा लक्ष्य ऐसे राष्ट्रवादी कार्यबल को पूरे देश में फैलाना है।

प्रमुख हस्तियां रही उपस्थित
आईएनएस इंफाल को नौसेना के युद्धक बेड़े में शामिल करने के मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ वाइस एडमिरल दिनेश के त्रिपाठी और मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के अतिरिक्त प्रभार के साथ निदेशक (वित्त) संजीव सिंघल मौजूद रहे।(हि.स.)

यह भी पढ़ें- Mumbai: आरबीआई समेत तीन निजी बैंकों के दफ्तरों को उड़ाने की धमकी, बैंकों की बढ़ी सुरक्षा

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.