पश्चिमी सीमा की रेगिस्तानी सरहद पर घुसपैठ का इनपुट, हाई अलर्ट पर सुरक्षा बल

केन्द्रीय खुफिया एजेंसियों से बीएसएफ को इनपुट मिला है कि जैसलमेर से सटी पाकिस्तान की 470 किलोमीटर लम्बी सीमा पर तारबंदी के बावजूद पाकिस्तान की मदद से आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसने की फिराक में है।

देश की पश्चिमी सीमा की रेगिस्तानी सरहद पर संभावित अवांछनीय हरकत तथा घुसपैठ का इनपुट मिलने के बाद जैसलमेर में सीमा से सटे समूचे बॉर्डर पर सुरक्षा एजेंसियों तथा सीमा सुरक्षा बल को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

सूत्रों के अनुसार केन्द्रीय खुफिया एजेंसियों से बीएसएफ को इनपुट मिला है कि जैसलमेर से सटी पाकिस्तान की 470 किलोमीटर लम्बी सीमा पर तारबंदी के बावजूद पाकिस्तान की मदद से आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसने की फिराक में है। उधर जैसलमेर के म्याजलार बॉर्डर पर पिछले दिनों पाकिस्तान जाने की फिराक में पकड़े गये बांग्लादेशी युवक से सुरक्षा व जांच एजेंसियां संयुक्त रूप से कड़ी पूछताछ कर रही है।

ये भी पढ़ें – विनायक मेटे मौत मामलाः होगी समानांतर जांच, फडणवीस ने की ये घोषणा

बांग्लादेशी युवक के साथ ही स्थानीय तस्कर भी गिरफ्तार
पकड़ा गया बांग्लादेशी युवक लैपटॉप, मोबाइल तथा नक्शे के साथ इस रास्ते से सऊदी अरब जाना चाहता था। पाकिस्तान ने पश्चिमी बॉर्डर के खासकर गंगानगर बॉर्डर पर हेरोइन व अन्य ड्रग्स की तस्करी पर खासा फोकस कर रखा है। कई बार ड्रोन के जरिये भारतीय सीमा में फेंकी गई ड्रग्स भारतीय सीमा में जब्त की जा चुकी है। कई स्थानीय तस्कर भी पकड़े जा चुके हैं। ऐसी स्थिति में जैसलमेर बॉर्डर पर भी सुरक्षा बलों का पहरा बढ़ा दिया गया है क्योंकि पिछले दिनों बाड़मेर बॉर्डर, पर भी तस्करी से जुड़े लोगों को पकड़ा जा चुका है। पिछले छह महीनों में पश्चिमी बॉर्डर पर घुसपैठ व तस्करी की वारदातों में बढ़ोतरी के बाद जैसलमेर के म्याजलार बॉर्डर को चुना गया है।

ग्रामीणों से अपील
सीमा से लगते गांव व ढाणियों में सीमा सुरक्षा बल के जवान व अधिकारी लगातार लोगों से मिल कर समझा रहे हैं कि वे किसी भी बाहरी या संदिग्ध व्यक्ति के बारे में जानकारी मिलने पर तुरंत पुलिस व बल को तत्काल सूचित करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here