क्वाड देशों के मालाबार अभ्यास से चिंता में चीन, ऐसे कर रहा है जासूसी

हाई वोल्टेज समुद्री अभ्यास के बीच भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस वागिर को ऑस्ट्रेलिया के फ्रेमेंटल में तैनात किया गया है।

455

हमेशा से चीन की आंखों की किरकिरी बने क्वाड देशों के मालाबार अभ्यास के बीच भारतीय पनडुब्बी आईएनएस वागिर को ऑस्ट्रेलिया के फ्रेमेंटल में तैनात किया गया है। ऑस्ट्रेलिया पहली बार क्वाड देशों की नौसेनाओं के मालाबार अभ्यास की मेजबानी कर रहा है। चीन ने क्वाड के मालाबार नौसैनिक अभ्यास की निगरानी के लिए सैकड़ों उपग्रह तैनात किए हैं। ऑस्ट्रेलिया पहुंची भारतीय पनडुब्बी रॉयल ऑस्ट्रेलियाई नौसेना (आरएएन) इकाइयों के साथ विभिन्न अभ्यासों में भाग लेगी।

क्वाड देशों में भारतस सहित चार देश शामिल
क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग (क्यूयूएडी-क्वाड) में भारत-प्रशांत क्षेत्र की चार प्रमुख नौसेनाएं भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया भी शामिल हैं। इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में होने वाली मालाबार एक्सरसाइज एक साल जापान में होती है तो एक साल भारत में और एक साल प्रशांत महासागर में किसी अमेरिकी नौसैनिक बेस के करीब। चीन को परेशान करने वाला क्वाड देशों के बीच मालाबार नौसैन्य अभ्यास का पिछला संस्करण जापान की मेजबानी में हुआ था। 2020 में क्वाड देशों के क्लब में शामिल हुआ ऑस्ट्रेलिया पहली बार क्वाड देशों की नौसेनाओं के मालाबार अभ्यास की मेजबानी कर रहा है।

Luna25: संशय के बादलों में घिरा रूस का चंद्रमा मिशन

हाई वोल्टेज समुद्री अभ्यास
इस हाई वोल्टेज समुद्री अभ्यास के बीच भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस वागिर को ऑस्ट्रेलिया के फ्रेमेंटल में तैनात किया गया है। इसकी विस्तारित रेंज पर तैनाती जून 2023 में हुई और 20 अगस्त को ऑस्ट्रेलिया के फ्रेमेंटल पहुंच गई है। पनडुब्बी वागिर भारतीय नौसेना की पांचवीं कलवरी श्रेणी की पनडुब्बी है, जिसे भारतीय नौसेना में इसी साल जनवरी में शामिल किया गया था और इसका बेस मुंबई में स्थित है। ऑस्ट्रेलिया में अपने प्रवास के दौरान आईएनएस वागिर ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी तट पर रॉयल ऑस्ट्रेलियाई नौसेना (आरएएन) इकाइयों के साथ विभिन्न अभ्यासों में भाग लेगी।

इस तरह चलेगा युद्धाभ्यास
ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट पर भारतीय नौसेना के स्वदेशी फ्रंटलाइन युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री और आईएनएस कोलकाता और विमान 21 अगस्त तक मालाबार अभ्यास में हिस्सा रहे हैं। इसके बाद 22 से 24 अगस्त तक होने वाले औस इंडेक्स-23 अभ्यास में भाग लेंगे। आईएनएस वागिर की तैनाती के दौरान बुनियादी, मध्यवर्ती और उन्नत स्तर के पनडुब्बी-रोधी अभ्यास होने हैं। इन अभ्यासों में भारतीय नौसेना के पी-8आई विमान भी आईएनएस वागिर के साथ शामिल होंगे। यह तैनाती भारतीय नौसेना और ऑस्ट्रेलियाई नौसेना के बीच सहयोग और तालमेल को और बढ़ाएगी।

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय नौसेना की पनडुब्बी की पहली तैनाती
वागिर की यह तैनाती भारतीय नौसेना की पनडुब्बियों की पहुंच और मजबूती का प्रमाण है। ऑस्ट्रेलिया में भारतीय नौसेना की पनडुब्बी की यह पहली तैनाती है। यह तैनाती लंबे समय तक बेस पोर्ट से विस्तारित रेंज में निरंतर संचालन करने के लिए भारतीय नौसेना की क्षमता और पेशेवर कौशल को प्रदर्शित करती है। इससे पहले तैनाती के दौरान आईएनएस वागिर ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के हिस्से के रूप में कोलंबो का दौरा किया था।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.