एरो इंडिया शो 2021: आत्मनिर्भर भारत की उड़ान देखकर दंग है दुनिया!

एरो इंडिया शो 2021 में सारंग हेलीकॉप्टर और सूर्यकिरण प्लेन का हवाई करतब भी देखने को मिलेगा।

बेंगलुरु के येलाहंका एयरफोर्स स्टेशन में 3 फरवरी से 13वें एरो इंडिया शो का आगाज हो गया है। ये शो 5 फरवरी तक चलेगा। इस दौरान राफेल के साथ ही देसी लड़ाकू विमान तेजस का भी जलवा दिखेगा। एरो इंडिया शो में सारंग हेलीकॉप्टर और सूर्यकिरण प्लेन का हवाई करतब भी देखने को मिलेगा। इसमें बंधन योजना के अंतर्गत 200 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है।

एरो इंडिया एक शानदार प्लेटफॉर्मः पीएम मोदी
इस एरो शो को लेकर पूरा देश उत्साहित और गौरवान्वित महसूस कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस शो को लेकर ट्विट करते हुए लिखा, ‘भारत रक्षा और स्पेस में असीमित क्षमता प्रदान करता है। इन क्षेत्रों में सहयोग के लिए एरो इंडिया एक शनदार प्लेटफॉर्म भी है। भारत सरकार ने इन क्षेत्रो में रिफॉर्म किए हैं, जो आत्मनिर्भर भारत को और गति दे।

आत्मनिर्भर भारत योजना को मिलेगा बलः रक्षा मंत्री
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इस मौके पर खुद बेंगलुरू में मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि इस शो के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत योजना को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि ये तीन दिन बहुत ही प्रोडक्टिव साबित होंगे। साथ ही ये आत्मनिर्भर भारत के सपने के ताकत प्रदान करेगा।

1 लाख 75 हजार करोड़ के टर्नओवर का लक्ष्य
रक्षा मंत्री ने कहा कि हमने 2024 तक 1 लाख 75 हजार करोड़ के टर्नओवर का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसमें एरो स्पेस और रक्षा उपकरणों के 35 हजार करोड़ का निर्यात भी शामिल है। सिंह ने कहा कि हमारा लक्ष्य भारत के रक्षा क्षेत्र में अग्रणी देश बनने का है।

48 हजार करोड़ का सौदा
वायुसेना के लिए 83 तेजस ( लाइट कॉम्बेट एयरक्राफ्ट) खरीदने की एचएएल से डील भी फाइनल हो गई है। यह घरेलू रक्षा सौदा 48 हजार करोड़ रुपए का हुआ है। 2 फरवरी को ही रक्षा मंत्री ने तेजस की नई प्रोडक्शन यूनिट का उद्घाटन किया।

30 प्रोडक्ट्स और प्रणालियों का प्रदर्शन
इस साल के एरो इंडिया शो में आत्मनिर्भर भारत की पहल के रुप में विकसित लगभग 30 प्रोडक्ट्स और प्रणालियां प्रदर्शित की जाएंगी। इनमें एयरबोर्न मिसाइल इलेक्ट्रोनिक्स, ईडब्ल्यू सिस्टम के लिए रिसीवर और 2 किलोवाट फ्यूल सेल, एफओ जायरो आधरित सेंसर पैकेज्ड यूनिट, अरधमल लेजर ट्रांसमीटर, आीआर जैमर, कॉल मैनेजर एंड मीडिया गेटवे, सी- बैंड ट्रोपो पावर एम्पलीफायर और आईआर सीकर मिसाइलें शामिल हैं। इनके सात ही बीईएल अपने थल एवं नौसैनिक उत्पादों और प्रणालियों का प्रदर्शन करेगा, जिसमें क्यूआर-सैम रडार, बीएफएसआर-एक्सआर एईएस, डीडीआर, तटीय निगरानी प्रणाली,जीबीएमईएस, एकल लड़ाकू वाहन हथियार प्रणाली इत्यादि शामिल हैं।

55 से ज्यादा देशों के प्रतिनिधि मौजूद
इस कार्यक्रम में कुल 540 प्रदर्शक शामिल हैं। इस दौरान 55 से ज्यादा देशों के रक्षा मंत्री, प्रतिनिधि, सेना प्रमुख और अधिकारी मौजूद रहेंगे।

पहले दिन के प्रदर्शन

एयर इंडिया शो में भारतीय ताकत का प्रदर्शन
कार्यक्रम में आत्मनिर्भर योजना के अंतर्गत निर्मित एयरक्राफ्ट ने फ्लाईपास्ट में हिस्सा लिया। इसके आलावा एयरबॉर्न अर्ली वॉार्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम एयरक्राफ्ट ने नेत्रा फॉर्मेशन में फ्लाई पास्ट किया।

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का प्रदर्शन
एयरो इंडिया शो में ब्रह्मोस सुपोनिक क्रूज मिसाइल का प्रदर्शन किया गया। भारतीय नौसेना,अगली पीढ़ी की समुद्री तटीय कॉस्टल डिफेंस बैटरी की भूमिका में मिसाइल को शामिल की जा रही है।

डीआरडीओ ने पाचवीं पीढ़ी के फाइटर एयरक्राफ्ट को दर्शाया
शो में रक्षा अनुसंधान और विरास संगठन ने देश की पाचवीं पीढ़ी वाले फाइटर एयरक्राफ्ट एडवांस मीडियम कॉम्बैट एयक्राफ्ट को दर्शाया।

सु-30एमकेआई फाइटर जेट का प्रदर्शन
कार्यक्रम में भारतीय नौसेना सु-30 एमकेआई फाइटर ने त्रिशूल फॉर्मेशन में अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here