चीन को चुनौतीः नाराजगी के बावजूद ये अमेरिकी सीनेटर पहुंचीं ताइवान

सीनेटर मार्शा ब्लैकबर्न अमेरिकी सैन्य विमान से ताइवान की राजधानी ताइपे पहुंचीं। इसकी पुष्टि एक टीवी फुटेज से हुई है।

चीन की नाराजगी को दरकिनार करते हुए सीनेअ वाणिज्य और सशस्त्र सेवा समितियों के अमेरिका की एक और सांसद ताइवान पहुंची हैं। ऐसी किसी प्रतिष्ठित अमेरिकी की यह तीसरी यात्रा है।

सीनेटर मार्शा ब्लैकबर्न अमेरिकी सैन्य विमान से ताइवान की राजधानी ताइपे पहुंचीं। इसकी पुष्टि एक टीवी फुटेज से हुई है। ब्लैकबर्न के कार्यालय ने बताया कि ताइवान के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक डगलस सू ने हवाई अड्डे पर उनका स्वागत किया। ब्लैकबर्न ने एक बयान में कहा कि भारत-प्रशांत क्षेत्र में ताइवान हमारा सबसे मजबूत साझेदार है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी के दौरे का भी किया था विरोध
चीन, जो ताइपे में लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकार की कड़ी आपत्तियों के खिलाफ ताइवान को अपने क्षेत्र के रूप में दावा करता है, ने अगस्त की शुरुआत में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी के दौरे के बाद द्वीप के पास सैन्य अभ्यास शुरू किया।

खास बातें
-ताइवान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि ब्लैकबर्न अपनी यात्रा के दौरान राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन से मिलने वाली थीं, जो 25 अगस्त को समाप्त हो रही थी, साथ ही शीर्ष सुरक्षा अधिकारी वेलिंगटन कू और विदेश मंत्री जोसेफ वू भी थे।

-मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि दोनों पक्ष ताइवान-अमेरिका सुरक्षा और आर्थिक और व्यापार संबंधों जैसे मुद्दों पर व्यापक रूप से विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।

-ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय के अनुसार साई 26 अगस्त की सुबह ब्लैकबर्न से मुलाकात करेंगी। वाशिंगटन में चीन के दूतावास के प्रवक्ता लियू पेंग्यु ने इसे उकसावे की कार्रवाई बताया है।

-लियू ने एक बयान में कहा कि अमेरिका ताइवान जलडमरूमध्य में स्थिरता नहीं देखना चाहता है और दोनों पक्षों के बीच टकराव को भड़काने और चीन के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here