G20 देशों की संसद के पीठासीन अधिकारियों का शिखर सम्मेलन, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

ऑस्ट्रेलिया की सीनेट की प्रेसीडेंट, सू लाइन्स और ऑस्ट्रेलिया के हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव के स्पीकर, मिल्टन डिक शनिवार, 07 अक्तूबर, 2023 को नई दिल्ली पहुंचे थे। दोनों पीठासीन अधिकारियों का स्वागत सांसद, डॉ. हर्ष वर्धन ने किया।

89

जी 20 देशों की संसदों के पीठासीन अधिकारियों के 13 अक्टूबर से शुरू हो रहे नौवें पी20 संसदीय शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले अतिथियों की नई दिल्ली पहुंचने की शुरुआत हो चुकी है।

इसी क्रम में बांग्लादेश की संसद की अध्यक्ष, डॉ. शिरीन शर्मिन चौधरी 10 अक्टूबर को नई दिल्ली पहुंची हैं। बांग्लादेश की संसद पी20 शिखर सम्मेलन के आमंत्रित सदस्यों में से एक है। डॉ चौधरी का भारत की संसद की ओर से सांसद, लॉकेट चटर्जी द्वारा गर्मजोशी और भारतीय परम्परा के अनुसार स्वागत किया गया।

ऑस्ट्रेलिया की सीनेट की प्रेसीडेंट, सू लाइन्स और ऑस्ट्रेलिया के हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव के स्पीकर, मिल्टन डिक शनिवार, 07 अक्तूबर, 2023 को नई दिल्ली पहुंचे थे। दोनों पीठासीन अधिकारियों का स्वागत सांसद, डॉ. हर्ष वर्धन ने किया।

इन देशों के प्रतिधि भी पहुंचने वाले हैं
उल्लेखनीय है कि लोकसभा सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार कोरिया गणराज्य, सऊदी अरब, इंडोनेशिया और यूनाइटेड किंगडम के प्रतिनिधिमंडल भी दिल्ली पहुंचने वाले हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 अक्टूबर को जी 20 देशों की संसदों के अध्यक्षों के शिखर सम्मेलन (पी 20) का उद्घाटन करेंगे। इस शिखर सम्मेलन में जी-20 देशों के अलावा 10 अन्य देश और अंतरराष्ट्रीय संगठन भाग लेंगे। पैन अफ्रीकी संसद के पीठासीन अधिकारी पहली बार भारत में पी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।

पी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान ये चार उच्च स्तरीय सत्र आयोजित किए जाएंगे

• सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति में तेजी लाना

• सतत ऊर्जा परिवर्तन

• महिलाओं के नेतृत्व में विकास

• पब्लिक डिजिटल प्लेटफार्मों के माध्यम से लोगों के जीवन में परिवर्तन लाना

‘वसुधैव कुटुंबकम – एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’ की भावना के साथ, पी 20 शिखर सम्मेलन के दौरान भारत का लक्ष्य अधिक समावेशी, शांतिपूर्ण और न्यायसंगत विश्व के निर्माण के लिए जटिल वैश्विक मुद्दों का सर्वसम्मति से समाधान करना है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.