Sandeshkhali Case: फैक्ट फाइंडिंग टीम को पुलिस ने रोका, सदस्य वहीं सड़क पर बैठ

इस हंगामे और पुलिस की नाकाबंदी के कारण बासंती राजमार्ग पर यातायात लगभग ठप हो गया। बाद में पुलिस ने इन्हें हिरासत में लेकर वाहन में बैठाया और कोलकाता पुलिस मुख्यालय लाल बाजार लाया है। टीम के सदस्यों ने दावा किया कि उन्हें अवैध तरीके से हिरासत में लिया गया है।

100

Sandeshkhali Case: उत्तर 24 परगना (North 24 Parganas) के संदेशखाली (Sandeshkhali) में मानवाधिकार उल्लंघन की जांच के लिए जा रही स्वयंसेवी संगठन फैक्ट फाइंडिंग टीम (Fact Finding Team) को एक बार फिर पुलिस ने रोक दिया है। इस टीम में पटना हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीश एल नरसिम्हा रेड्डी (L Narasimha Reddy), पूर्व आईपीएस अधिकारी, वकील समेत छह सदस्य शामिल हैं। इस प्रतिनिधिमंडल को धारा 144 लागू होने का कारण बताकर संदेशखाली से 52 किमी पहले दक्षिण 24 परगना के भोजेरहाट में रोक दिया गया। फैक्ट फाइंडिंग टीम के सदस्य वहीं सड़क पर बैठ गए।

इस हंगामे और पुलिस की नाकाबंदी के कारण बासंती राजमार्ग पर यातायात लगभग ठप हो गया। बाद में पुलिस ने इन्हें हिरासत में लेकर वाहन में बैठाया और कोलकाता पुलिस मुख्यालय लाल बाजार लाया है। टीम के सदस्यों ने दावा किया कि उन्हें अवैध तरीके से हिरासत में लिया गया है।

यह भी पढ़ें- Shimla: पहाड़ों से घिरा हुआ है शिमला शहर, ब्रिटिश शासन में ऐसा था इतिहास

आयशा बीबी गिरफ्तार
उल्लेखनीय है कि तृणमूल नेता शिवप्रसाद हाजरा के फर्मों को जलाने में कथित संलिप्तता के लिए रविवार को इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) नेता आयशा बीबी को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने वहां तोड़फोड़ में कथित संलिप्तता के लिए कुछ ग्रामीणों को भी हिरासत में लिया है। हालांकि अधिकारी ने हिरासत में लिए गए ग्रामीणों की संख्या नहीं बताई। कोलकाता से लगभग 100 किलोमीटर दूर सुंदरबन की सीमा पर स्थित संदेशखालि में जमीन हड़पने और यौन शोषण के आरोपों में तृणमूल नेता शाहजहां शेख के खिलाफ एक महीने से अधिक समय से विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। शाहजहां शेख फिलहाल फरार है।

यह भी पढ़ें- Jammu and Kashmir: रेलवे अधिकारियों की बड़ी लापरवाही, बिना ड्राइवर के कई किलोमीटर चली ट्रेन

सड़क पर उतरी महिलाएं
उत्तर 24 परगना के संदेशखाली में पुलिस की लाख सतर्कता के बावजूद हालात सामान्य होने का नाम नहीं ले रहे हैं। 24 फरवरी (शनिवार) को एक बार फिर धारा 144 लागू होने और बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती के बावजूद स्थानीय महिलाएं सड़कों पर उतर आईं और विरोध प्रदर्शन किया। संदेशखाली के माझेरपाड़ा इलाके में लाठी-डंडे और झाड़ू लेकर सैकड़ों महिलाएं उतर गई और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इन महिलाओं ने जल्द से जल्द शेख शाहजहां को गिरफ्तार करने की मांग की और पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये। सूचना मिलने के बाद अतिरिक्त संख्या में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची लेकिन विरोध प्रदर्शन जारी रहा।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.