आक्रांताओं से आया भारत में इस्लाम – मोहन भागवत

इस्लाम को लेकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि, आक्रमणकारी मुस्लिमों से भारत में इस्लाम का आगमन हुआ। इस देश में रहनेवाले मुस्लिमों को डरने की आवश्यकता नहीं है।

संघ प्रमुख पुणे में ग्लोबल स्ट्रेटेजी पॉलिसी फाऊंडेशन में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने का कि भारत में रहनेवाले हिंदू और मुस्लिम एक ही पूर्वजों की संतान हैं और यहां रहनेवाला हर भारतीय हिंदू है।

ये भी पढ़ें – भारत ने ओवल में इंग्लैंड को 157 रन से हराया! इसलिए यह जीत है स्पेशल 

वे नेशन फर्स्ट, नेशन सुप्रीम नामक सेमिनार में सम्मिलित हुए थे। उन्होंने कहा, हिन्दू यह कोई जाति या भाषावाचक संज्ञा नहीं है किंतु यह प्रकृति के हर व्यक्ति के विकास, उत्थान का मार्गदर्शन करने वाली परंपरा का नाम है। यह जो मानते हैं,फिर चाहे वह किसी भी भाषा, पंथ, धर्म के हों वह हिन्दू हैं और इसी संदर्भ में हम हर भारतीय नागरिक को हिन्दू मानते हैं।

आदिकाल से यह होता आ रहा है। देवता यज्ञ करते और राक्षस उसमें विघ्न डालते थे। असुरों को अपनी हानि और अपने विरोधी देवताओं की शक्ति का बढ़ना सहन नहीं होता था। फिर भी महायज्ञ सुसंपन्न होता था। हमारी एकता का आधार हमारी मातृभूमि और गौरवशाली परंपरा है। भारत में रहने वाले हिन्दू और मुस्लिमों के पूर्वज समान हैं। हमारी दृष्टि से हिन्दू यह शब्द मातृभूमि, पूर्वज एवं भारतीय संस्कृति के विरासत का प्रतिशब्द है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here