Rajasthan: 88 विधानसभा सीटों पर ‘इस मामले’ में पुरुषों को महिलाओं ने छोड़ा पीछे

वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश में 74.71 प्रतिशत मतदान हुआ था। इसमें पुरुषों का मतदान प्रतिशत 74.75 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 74.67 रहा था।

956

राजस्थान के सियासी रण में इस बार महिलाएं मताधिकार का उपयोग करने के लिहाज से ज्यादा जागरूक रही हैं। राजस्थान की 88 विधानसभा सीटें ऐसी रही हैं, जहां महिलाओं का मतदान प्रतिशत पुरुषों से ज्यादा रहा है। कुल मतदान के लिहाज से भी महिलाओं का वोट प्रतिशत पुरुषों से ज्यादा रहा है।

मतदान पूर्ण होने के बाद राज्य निर्वाचन विभाग के आंकड़ों के विश्लेषण से यह तथ्य सामने आया है। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश में 74.71 प्रतिशत मतदान हुआ था। इसमें पुरुषों का मतदान प्रतिशत 74.75 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 74.67 रहा था। वहीं, इस बार पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 74.53 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 74.72 रहा है। इससे साफ है कि महिलाओं के वोटिंग प्रतिशत में कुछ बढ़ोतरी हुई है।

महिलाएं ज्यादा जागरुक
इस बार के वोटिंग पैटर्न के विश्लेषण से एक बात साफ तौर पर निकल कर सामने आई है कि पुरुष मतदाताओं की तुलना में महिलाएं लोकतंत्र की सजग प्रहरी की भूमिका में उभरीं हैं। प्रदेश की 199 सीटों पर मतदान के प्रतिशत के लिहाज से महिलाएं पुरुषों से आगे निकल गईं हैं। प्रदेश की 88 विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां महिलाओं ने मतदान प्रतिशत के लिहाज से पुरुषों को पीछे छोड़ दिया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता का कहना है कि प्रदेश में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 74.53 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 74.72 फीसदी रहा है। इसी तरह प्रदेश की 88 विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत पुरुषों की तुलना में ज्यादा रहा है।

पोकरण में ऐसा रहा हाल
उन्होंने बताया कि पोकरण में पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 87.40 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 88.23 रहा है। घाटोल में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 85.30 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 85.40 रहा है। बाड़ी में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 83.84 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 84.66 रहा है। इसी तरह शाहपुरा में पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 83.27 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 84.44 रहा। बायतु में पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 81.90 और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 85.04 रहा है। शिव में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 82.00 प्रतिशत और महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 84.81 रहा है। तारानगर में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 81.35 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 83.78 रहा है। इसी तरह भादरा में पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 82.22 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 82.74 रहा है। चौरासी में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 81.34 और पुरुषों का मतदान प्रतिशत 82.20 रहा है। बांसवाड़ा में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 80.70 और महिलाओं का मतदान प्रतिशत 81.36 रहा है।

88 सीटों पर बढ़ा महिलाओं का मतदान प्रतिशत
चुनाव आयोग के आंकड़ों से साफ है कि पोकरण (88.23), कुशलगढ़ (87.54) और तिजारा (85.44) महिलाओं के लिहाज से सबसे ज्यादा मतदान वाली सीट रही है। वहीं, महिला मतदान के लिहाज से पिछड़ने वाली तीन प्रमुख सीटें हैं जोधपुर, टोडाभीम और बामनवास। जोधपुर में महिलाओं का मतदान प्रतिशत 62.97 रहा, जबकि टोडाभीम में महिला वोटिंग 63.22 और बामनवास में महिला मतदान का आंकड़ा 63.63 फीसदी रहा है। जिन 88 सीटों पर महिलाओं का मतदान प्रतिशत बढ़ा है, उनमें पोकरण, घाटोल, बाड़ी, शाहपुरा, बायतु, शिव, तारानगर, भादरा, चौरासी, बांसवाड़ा, बाड़मेर, गुढ़ामालानी, धरियावद, बांदीकुई, जहाजपुर, नाथद्वारा, ओसियां, परबतसर, मावली, कामां, रानीवाड़ा, फुलेरा, गढ़ी, जैसलमेर, रामगढ़, राजाखेड़ा, सादुलपुर, चूरू, कोटपुतली, लक्ष्मणगढ़, उदयपुरवाटी, वल्लभनगर, थानागाजी, चौहटन, विराटनगर, खंडेला, मकराना, दांतारामगढ़, शेरगढ़, नावां, खेतड़ी, आसींद, मंडावा, गोगूंदा शामिल है।

IPL: असमंजस से हटा पर्दा, मुंबई इंडियंस में हुई हार्दिक की वापसी

इसी तरह बसेड़ी, सागवाड़ा, आसपुर, नवलगढ़, डीडवाणा, पचपदरा, डूंगरपुर, सीकर, रतनगढ़, खैरवाड़ा, धोद, नीमकाथाना, लाडनूं, डेगाना, महुआ, सलूम्बर, बानसूर, झुंझुनूं, कठूमर, फतेहपुर, भीम, पिण्डवाड़ा आबू, नदबई, ब्यावर, रेवदर, श्रीमाधोपुर, सिकराय, सूरजगढ़, सुजानगढ़, पिलानी, जैतारण, कुंभलगढ़, वैर, डीग-कुम्हेर, सोजत, बिलाड़ा, बाली, सिरोही, भीनमाल, सिवाना, जालोर, सुमेरपुर, मारवाड़ जंक्शन और आहोर विधानसभा सीटों पर पुरुषों के मुकाबले महिलाओं का मतदान प्रतिशत अधिक रहा है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.