Rajasthan Assembly Elections: जानिये, अब तक चुनाव कार्य में नियुक्त कितने अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने डाले वोट

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए 25 नवंबर को मतदान होने हैं। इसके लिए मतदान कार्यों में लगे कर्मचारियों और अधिकारियों को मतदान की विशेष सुविधा प्रदान की गई है।

1153

राजस्थान विधानसभा आम चुनाव- 2023 की ड्यूटी में लगे कार्मिकों, पुलिस अधिकारियों आदि द्वारा सभी जिलों में बने फेसिलिटेशन सेंटर्स पर अब तक 3,01,875 मत डाले गए हैं। 21 नवंबर की शाम तक कुल 30,239 मतदान कार्मिकों ने मताधिकार का प्रयोग किया।

24 नवंबर तक किया जा सकेगा मतदान
मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों एवं अन्य जिलों में चुनाव कार्य में नियुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए डाक मतपत्र से मतदान करने के लिए फेसिलिटेशन सेंटर स्थापित किये गए हैं। इन केंद्रों पर 24 नवंबर तक विभिन्न दिवसों पर मतदान किया जा सकेगा।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिये हैं कि उक्त सुविधा केन्द्रों के अतिरिक्त प्रत्येक रिटर्निंग अधिकारी स्वयं के कार्यालय में एक सुविधा केन्द्र 22 से 24 नवंबर तक स्थापित करना सुनिश्चित करेंगे।

61021 बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं ने की होम वोटिंग
 विधानसभा आम चुनाव-2023 में भारत निर्वाचन आयोग की होम वोटिंग की पहल के प्रति बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं का अभूतपूर्व रुझान देखने को मिला। दोनों चरणों में मिला कर कुल 61021 बुजुर्ग एवं दिव्यांगजनों ने होम वोटिंग की। होम वोटिंग के लिए आवेदन करने वाले करीब 99.03 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान कर चुनाव आयोग की इस मुहिम को सफल बनाया। मंगलवार को द्वितीय चरण में कुल 38 बुजुर्गों एवं 8 दिव्यांग जनों ने होम वोटिंग की।

Srinagar: लश्कर के दो आतंकवादी सहयोगी गिरफ्तार, हथियार और गोला-बारूद बरामद

 दिव्यांगों को सुविधा
मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि विधानसभा आम चुनाव-2023 में पहली बार प्रदेश में 80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ मतदाता तथा 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांग मतदाताओं को घर से ही मतदान करने की सुविधा का विकल्प दिया गया था। पात्र 62,528 मतदाताओं ने विकल्प के तौर पर होम वोटिंग सुविधा के लिए आवेदन किया था। इनमें से कुल 61621 मतदाताओं में से 61021 ने मतदान कर इस मुहिम को सफल बनाया है।

उन्होंने बताया कि विशेष मतदान दलों ने ऐसे मतदाताओं के घर जाकर पूरी गोपनीयता के साथ डाक मतपत्र के माध्यम से उनका मतदान करवाया। होम वोटिंग के पहले चरण के दौरान जो मतदाता घर पर अनुपस्थित थे, उनके लिए 20 और 21 नवम्बर को विशेष मतदान दल ने दूसरी बार विजिट कर मतदान करवाया।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.