Maharashtra: टोल बढ़ोतरी के मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री शिंदे से मिलूंगा: राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख ने कहा कि पिछले शिवसेना-भाजपा गठबंधन ने अपने चुनावी घोषणापत्र में महाराष्ट्र को टोल-मुक्त बनाने का वादा किया था।

100

महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (Maharashtra State Road Development Corporation) ने 1 अक्टूबर से मुंबई (Mumbai) की सीमा पर स्थित टोल बूथों (Toll Booths) पर टोल टैक्स (Toll Tax) बढ़ा दिया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) के नेता इसका विरोध (Protest) कर रहे हैं। पार्टी नेता अविनाश जाधव (Avinash Jadhav) चार दिनों से भूख हड़ताल पर हैं। ऐसे में मनसे प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने जाधव से मुलाकात की। साथ ही कहा कि वह इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Chief Minister Eknath Shinde) से मुलाकात करेंगे।

मनसे प्रमुख ने कहा कि वह अगले कुछ दिनों में मुख्यमंत्री से मिलेंगे। टोल बढ़ोतरी और प्रदेश की जनता को होने वाली अन्य समस्याओं को उनके सामने रखेंगे। इन सभी मुद्दों पर सीएम चर्चा करेंगे।

वादा पूरा नहीं हुआ
उन्होंने कहा कि शिवसेना-भाजपा गठबंधन ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में महाराष्ट्र को टोल मुक्त बनाने का वादा किया था, लेकिन वादा पूरा नहीं हुआ। उन्होंने यह भी दावा किया कि शिंदे ने पहले टोल को लेकर अदालत में याचिका दायर की थी, जिसे बाद में वापस ले लिया गया था। उन्होंने महाराष्ट्र के सीएम से पूछा कि किसके निर्देश पर उन्होंने याचिका वापस ली है?

यह भी पढ़ें- Israel-Palestine War: एयर इंडिया ने लिया बड़ा फैसला, इस दिन तक उड़ानें रद्द

सत्तारूढ़ दल जो भी वादा करता है वह धोखा है: मनसे प्रमुख
मनसे प्रमुख ने लोगों से अपने अधिकारों के लिए विद्रोह करने को कहा। उन्होंने कहा कि जब लोग आगे आएंगे तभी सरकार को अपनी गलतियों का एहसास होगा। ठाकरे ने कहा, ‘सत्तारूढ़ दल को यह ध्यान रखना चाहिए कि चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में वह आम नागरिकों को नाराज करने का जोखिम नहीं उठा सकती। चुनाव के दौरान सत्तारूढ़ दल जो भी वादा करता है वह धोखा है। नागरिकों को अपने मत का प्रयोग करते समय इस बात का एहसास होना चाहिए।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.