Rajasthan Assembly Elections: गहलोत से क्यों नाराज हैं राहुल गांधी? कांग्रेस में इस बात की चर्चा

राजस्थान में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। शायद इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद बीजेपी के प्रचार की कमान संभाल रखी है।

831

प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठने के लिए बेताब कांग्रेस नेता राहुल गांधी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बेहद नाराज हैं। ये चर्चा दिल्ली से लेकर राजस्थान की राजनीति में चल रही है। महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस नाराजगी की चर्चा हो रही है, उसकी वजह भी स्पष्ट है।

मध्य प्रदेश समेत देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार चरम पर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से लेकर कांग्रेस के राहुल गांधी और प्रियंका गांधी तक सभी मैदान में उतर चुके हैं। कहीं जंगी प्रचारसभा तो कहीं रोड शो का दौर जारी है। कोई स्कूटर रैली तो कोई घर-घर पदयात्रा कर रहा है। सभी राजनीतिक दल मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। लेकिन, कांग्रेस के स्टार प्रचारक और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की राजस्थान में अभी तक एक भी प्रचार रैली क्यों नहीं हुई? राहुल गांधी ने राजस्थान क्यों छोड़ दिया? ऐसे कई सवाल चर्चा का विषय बने हुए हैं।

सचिन पायलट को किनारे किया जाना है कारण
नाम न छापने की शर्त पर कांग्रेस के एक नेता के मुताबिक, राहुल गांधी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बेहद नाराज हैं। कहा जा रहा है कि अशोक गहलोत द्वारा सचिन पायलट को अलग करने के कारण राहुल गांधी नाराज हैं।खास बात ये है कि राजस्थान में 25 नवंबर को वोटिंग होनी है। समय ज्यादा नहीं है। इसके बावजूद राहुल गांधी ने राजस्थान में एक भी रैली नहीं की।

दिवाली बाद सक्रिय होंगे युवराज
प्रियंका गांधी ने दो सभाएं एक एक टोंक जिले में और दूसरा दौसा में किया है। इसके अलावा कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे भी दो प्रचार सभाएं कर चुके हैं। ये सभाएं उन्होंने बारा और जोधपुर में कीं हैं। राजस्थान में कांग्रेस को उम्मीद है कि दिवाली के बाद राहुल गांधी सक्रिय होंगे।

Assembly elections: राजनीति के अखाड़े में मठाधीशों की दावेदारी का अजब संयोग, जानें क्या

कांग्रेस-भाजपा में कांटे की टक्कर
खास बात यह है कि राजस्थान में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। शायद इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद बीजेपी के प्रचार की कमान संभाल रखी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस का रिमोट अपने हाथ में रखा है।
इस बीच मिजोरम में मतदान हो चुका है। साथ ही छत्तीसगढ़ में भी पहले चरण का मतदान हो चुका है। लेकिन राजस्थान का चुनाव कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए बेहद अहम है। इसके बावजूद यहां अब तक राहुल गांधी का प्रचार में भाग न लेना हैरानी करने वाली बात है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.