दिग्विजय सिंह के ‘उस’ बयान से कांग्रेस ने किया किनारा, पड़े अलग-थलग

दिग्विजय सिंह अपने विवादास्पद बयानों से कांग्रेस को कई बार परेशानी में डाल चुके हैं। लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें एक बयान पर अकेला छोड़ दिया है।

पार्टी ने अपने दिग्गज नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के उस बयान से किनारा कर लिया है, जिसमें उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल उठाये थे। 24 जनवरी को जम्मू-कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान दिग्विजय सिंह के सवाल पूछा गया तो इतना ही बोल पाए कि वे भारतीय सेना का सम्मान करते हैं। इसी बीच पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि सिंह के बयान पर वे सोमवार को ट्वीट कर सफाई दे चुके हैं।

महासचिव जयराम रमेश ने वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को पीछे करते हुए कहा कि सिंह के बयान पर वे 23 जनवरी को ट्वीट कर सफाई दे चुके हैं। ऐसे में इस मुद्दे पर दिग्विजय सिंह से सवाल पूछा जाए।

भाजपा ने साधा निशाना
दरअसल दिग्विजय सिंह ने जम्मू-कश्मीर में एक सभा के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़े किए थे, जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस को देश की सेना पर भरोसा नहीं हैं। कांग्रेस अक्सर सेना के शौर्य पर सवाल उठाती है। विवाद को बढ़ता देखकर जयराम रमेश ने एक दिन पूर्व ट्वीट कर दिग्विजय सिंह के बयान से पार्टी को अलग कर लिया था।

दिग्विजय सिंह के विचार निजीः कांग्रेस
रमेश ने अपने ट्वीट में कहा था कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सेना को लेकर जो विचार व्यक्त किए हैं, वह उनके निजी विचार हैं। उन्होंने सेना को लेकर जो कहा, वह पार्टी का आधिकारिक बयान नहीं है। रमेश ने कहा कि 2014 से पहले संप्रग सरकार ने भी सर्जिकल स्ट्राइक की थी। राष्ट्रहित में सभी सैन्य कार्रवाइयों का कांग्रेस ने समर्थन किया है और आगे भी समर्थन करेगी।

प्रमाण नहीं होने का लगाया था आरोप
उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में एक जनसभा के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में वे लोग बहुत बात करते हैं कि हमने इतने लोगों को मार गिराया, लेकिन इसका कोई प्रमाण नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here