राष्ट्रपति ने सांसद हेमंत पाटिल को भेजा समन, लोकसभा में पेश होने का दिया आदेश

मराठा आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र में चल रहे आंदोलन के समर्थन में शिवसेना सांसद हेमंत पाटिल ने सांसद पद से इस्तीफा दे दिया था।

1013

महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति (Politics) में पिछले कुछ समय से उथल-पुथल का दौर खत्म नहीं हुआ है। राज्य में पार्टियों के बीच घमासान खत्म हुआ तो मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) का मुद्दा गरमा गया। कई जगहों पर मराठा आरक्षण की मांग कर रहे आंदोलनकारियों (Agitators) ने हिंसक प्रदर्शन भी किया। इस बीच पिछले महीने एकनाश शिंदे गुट (Eknash Shinde Faction) के सांसद हेमंत पाटिल (MP Hemant Patil) ने भी मराठा आरक्षण के समर्थन में इस्तीफा (Resignation) दे दिया था। हालांकि, अब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu) की ओर से हेमंत पाटिल को समन (Summons) जारी किया गया है।

हेमंत पाटिल ने शिवसेना के टिकट पर महाराष्ट्र के हिंगोली से लोकसभा चुनाव जीता था। जब शिवसेना टूटी तो वह एकनाथ शिंदे गुट में शामिल हो गये। उन्होंने कहा था कि वह मराठा समुदाय के साथ एकजुटता दिखाने के लिए इस्तीफा दे रहे हैं। पाटिल ने कहा था कि पोस्ट आएंगे और जाएंगे, लेकिन समुदाय हमेशा रहेगा। उन्होंने कहा था कि मराठा समुदाय की आर्थिक और शैक्षणिक स्थिति खराब है। इसलिए उन्हें आरक्षण मिलना चाहिए।

यह भी पढ़ें- यात्रीगण कृपया ध्यान दें… रेलवे इस रूट पर शुरू कर रहा है वंदे भारत एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन

4 दिसंबर को लोकसभा में पेश होने का आदेश
पिछले महीने मराठा आरक्षण के मुद्दे पर सांसद हेमंत पाटिल ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को अपना इस्तीफा भेजा था। इस्तीफे के बाद से ही पाटिल संसद की सभी बैठकों और कामकाज से दूर रह रहे थे। हालांकि, अब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने पाटिल को समन जारी कर 4 दिसंबर को लोकसभा में पेश होने का आदेश दिया है।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.