इजराइल-हमास युद्ध के बीच पीएम मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति से की बात, जानें क्या बोले प्रधानमंत्री

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गाजा में अल-अहली अस्पताल पर हुए हमले का जिक्र किया।

57

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने गुरुवार (19 अक्टूबर) को फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास (Palestinian President Mahmoud Abbas) से बात की और गाजा (Gaza) के अल-अहली अस्पताल (Al-Ahli Hospital) में नागरिकों की मौत पर संवेदना व्यक्त की। इजराइल (Israel) और हमास (Hamas) के बीच चल रहे संघर्ष के बीच पीएम मोदी ने आश्वासन दिया कि भारत फिलिस्तीन के लोगों को मानवीय सहायता भेजेगा। इसे लेकर पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने इजरायल-फिलिस्तीन मुद्दे (Israel-Palestine Issues) पर भारत के लंबे समय से चले आ रहे सिद्धांतों को दोहराया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया कि दोनों देशों के बीच चर्चा हुई है। उन्होंने लिखा कि “फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महामहिम महमूद अब्बास से बात की। गाजा के अल अहली अस्पताल में नागरिकों की मौत पर संवेदना व्यक्त की। हम फिलिस्तीन लोगों को मानवीय सहायता भेजना जारी रखेंगे। “क्षेत्र में हिंसा, बिगड़ती सुरक्षा स्थिति और आतंकवाद पर हमारी गहरी चिंता साझा की।” इजराइल-फिलिस्तीन मुद्दे पर भारत की लंबे समय से चली आ रही सैद्धांतिक स्थिति को दोहराया।

यह भी पढ़ें- पुणे में प्रशिक्षण के दौरान विमान क्रैश,पायलट घायल

गाजा अस्पताल विस्फोट में 500 लोग मारे गए
इससे पहले, हमास द्वारा संचालित गाजा स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि 17 अक्टूबर की रात को अल-अहली अल-अरबी, जिसे बैपटिस्ट अस्पताल भी कहा जाता है, पर इजरायली हवाई हमले में कम से कम 500 लोग मारे गए थे। हालांकि, इजरायली रक्षा बलों ने कहा था कि अस्पताल विस्फोट के पीछे उसका हाथ नहीं था। अस्पताल में विस्फोट गाजा आतंकवादियों द्वारा छोड़े गए एक असफल रॉकेट के कारण हुआ था। फिलिस्तीनियों और अधिकांश अरब जगत ने अस्पताल विस्फोट के लिए इजराइल को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा था कि इजराइल ने मेडिकल सेंटर पर हमला किया और सैकड़ों लोग मारे गए। इसे लेकर जॉर्डन, तुर्की, मिस्र, सऊदी अरब और अन्य देशों ने येरुशलम की निंदा की थी।

10 अक्टूबर को नेतन्याहू से फोन पर बात हुई
तनावपूर्ण स्थिति के बीच 10 अक्टूबर को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और नरेंद्र मोदी के बीच फोन पर बातचीत हुई. इस दौरान दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच हमले की मौजूदा स्थिति पर खुलकर चर्चा हुई. पीएम मोदी ने इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू को आश्वासन दिया था कि भारत इस कठिन समय में इजरायल के साथ खड़ा है।

नेतन्याहू से बात करते हुए पीएम मोदी ने क्या कहा?
नेतन्याहू से बात करने के बाद पीएम मोदी ने कहा था कि मैं प्रधानमंत्री नेतन्याहू को उनके फोन कॉल और मौजूदा हालात पर अपडेट देने के लिए धन्यवाद देता हूं। भारत के लोग इस कठिन समय में इजरायल के साथ मजबूती से खड़े हैं।

आतंकी हमले की निंदा की
पीएम मोदी ने आतंकवाद पर भी जोरदार हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि भारत आतंकवाद के सभी रूपों की कड़ी निंदा करता है। इस हमले में मारे गए निर्दोष पीड़ितों और उनके परिवारों के लिए प्रार्थना करें।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.