Lok Sabha Session: संसद 140 करोड़ नागरिकों की आकांक्षाओं का केंद्र: प्रधानमंत्री मोदी

18वीं लोकसभा में अपने पहले संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संसद भवन सिर्फ दीवारें नहीं हैं, बल्कि 140 करोड़ नागरिकों की आकांक्षाओं का केंद्र है।

136
Photo : Sansad TV

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बुधवार (26 जून) को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (National Democratic Alliance) के उम्मीदवार और कोटा (Kota) से सांसद ओम बिरला (MP Om Birla) को 18वीं लोकसभा (18th Lok Sabha) का अध्यक्ष चुने जाने पर बधाई देते हुए कहा कि यह सम्मान की बात है कि आप दूसरी बार इस कुर्सी के लिए चुने गए हैं। बिरला की सराहना करते हुए उन्होंने विश्वास व्यक्त (Expressed Confidence) किया कि 18वीं लोकसभा आपके नेतृत्व में लोगों की उम्मीदों को पूरा करेगी।

18वीं लोकसभा में अपने पहले संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संसद भवन सिर्फ दीवारें नहीं हैं, बल्कि 140 करोड़ नागरिकों की आकांक्षाओं का केंद्र है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सदन का कामकाज, आचरण और जवाबदेही हमारे देश में लोकतंत्र की नींव को मजबूत बनाती है।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Session: संसद 140 करोड़ नागरिकों की आकांक्षाओं का केंद्र: प्रधानमंत्री मोदी

मार्गदर्शन करने में सक्षम बनाएगा
अमृत काल में बिरला के दूसरी बार कार्यभार संभालने के महत्व को देखते हुए प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि पांच साल का उनका अनुभव और उनके साथ सदस्यों का अनुभव, इस महत्वपूर्ण समय में पुनः निर्वाचित अध्यक्ष को सदन का मार्गदर्शन करने में सक्षम बनाएगा। प्रधानमंत्री ने अध्यक्ष के विनम्र और विनम्र व्यक्तित्व और उनकी आकर्षक मुस्कान की चर्चा की, जो सदन का संचालन करने में उनकी मदद करती है।

प्रधानमंत्री ने 17वीं लोकसभा की रिकॉर्ड उत्पादकता का जिक्र किया जो 97 प्रतिशत रही। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान सदन के सदस्यों के लिए अध्यक्ष के व्यक्तिगत जुड़ाव और चिंता का भी जिक्र किया। उन्होंने बिरला की प्रशंसा की कि उन्होंने महामारी के बावजूद सदन के कामकाज को बाधित नहीं होने दिया और उत्पादकता 170 प्रतिशत तक पहुंच गई।

ओम बिरला ने रचा इतिहास
प्रधानमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि पुनः निर्वाचित अध्यक्ष नई सफलताएं प्राप्त करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि बलराम जाखड़ पहले अध्यक्ष थे, जिन्होंने लगातार पांच वर्षों के बाद दोबारा इस पद को संभाला था और आज ओम बिरला को 17वीं लोकसभा के सफल समापन के बाद 18वीं लोकसभा को बड़ी सफलताएं दिलाने की जिम्मेदारी मिली है। उन्होंने बीच के 20 वर्षों की अवधि के रुझान की ओर भी ध्यान दिलाया, जब अध्यक्ष चुने गए लोगों ने या तो चुनाव नहीं लड़ा या फिर अपनी नियुक्ति के बाद चुनाव नहीं जीता, लेकिन ओम बिरला ने फिर से विजयी होकर अध्यक्ष के रूप में इतिहास रच दिया है।

निर्वाचन क्षेत्र में खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रशंसा
प्रधानमंत्री ने एक सांसद के रूप में अध्यक्ष के कामकाज पर प्रकाश डाला। उन्होंने ओम बिरला के निर्वाचन क्षेत्र में स्वस्थ मां और स्वस्थ बच्चे के उल्लेखनीय अभियान का उल्लेख किया। उन्होंने बिरला द्वारा अपने निर्वाचन क्षेत्र कोटा के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को ले जाने के लिए किए गए अच्छे काम पर भी टिप्पणी की। उन्होंने बिरला द्वारा अपने निर्वाचन क्षेत्र में खेलों को बढ़ावा देने की भी प्रशंसा की।

ओम बिरला की अध्यक्षता में पारित किए गए
पिछली लोकसभा में बिरला के नेतृत्व को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने उस अवधि को हमारे संसदीय इतिहास का स्वर्णिम काल बताया। 17वीं लोकसभा के दौरान लिए गए परिवर्तनकारी निर्णयों को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने अध्यक्ष के नेतृत्व की प्रशंसा की। उन्होंने नारी शक्ति वंदन अधिनियम, जम्मू कश्मीर पुनर्गठन, भारतीय न्याय संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता, सामाजिक सुरक्षा संहिता, व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक, मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक, ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के अधिकार संरक्षण विधेयक, उपभोक्ता संरक्षण विधेयक, प्रत्यक्ष कर- विवाद से विश्वास विधेयक जैसे ऐतिहासिक अधिनियमों का उल्लेख किया, जो ओम बिरला की अध्यक्षता में पारित किए गए।

पी-20 सम्मेलन के लिए भी अध्यक्ष की प्रशंसा
प्रधानमंत्री ने जी-20 देशों के विधायी निकायों के पीठासीन अधिकारियों के अत्यंत सफल पी-20 सम्मेलन के लिए भी अध्यक्ष की प्रशंसा की, जिसमें रिकॉर्ड संख्या में देशों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने सदन की मर्यादा बनाए रखने में अध्यक्ष द्वारा दिखाए गए संतुलन की सराहना की, जिसमें कई कठोर निर्णय लेना भी शामिल था। उन्होंने परंपराओं को बनाए रखते हुए सदन के मूल्यों को बनाए रखने का विकल्प चुनने के लिए अध्यक्ष के प्रति आभार व्यक्त किया।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.