One Nation, One Election: मुख्यमंत्री शिंदे ने ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ को लेकर पूर्व राष्ट्रपति को लिखा पत्र, कही यह बात

137

One Nation, One Election: शिवसेना नेता (Shiv Sena leader) और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री (Chief Minister of Maharashtra) एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने एक राष्ट्र, एक चुनाव (One Nation, One Election) की अवधारणा का समर्थन करते हुए कहा है कि बार-बार चुनाव अर्थव्यवस्था के लिए अच्छे नहीं हैं और विकास में बाधा डालते हैं। पूर्व राष्ट्रपति (former President) राम नाथ कोविन्द (Ram Nath Kovind), जो ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर उच्च स्तरीय समिति के अध्यक्ष हैं, पूर्व राष्ट्रपति को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि एक साथ चुनाव एनडीए सरकार द्वारा प्रस्तावित “सबसे महत्वपूर्ण सुधारों” में से एक है।

एक राष्ट्र, एक चुनाव
पूर्व राष्ट्रपति को अपने पात्र में मुख्यमंत्री शिंदे ने लिखा, “हमारा दृढ़ विश्वास है कि ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ से केंद्रित और सुचारु शासन होगा। देश के किसी न किसी हिस्से में चुनाव होने के कारण शासन पर ध्यान केंद्रित करना बहुत मुश्किल हो जाता है क्योंकि पूरा ध्यान इन चुनावों को जीतने पर केंद्रित है।” अपने पत्र में, मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा, “प्रधानमंत्री से लेकर मंत्री, मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक और सभी नेता इन चुनावों में शामिल हो जाते हैं। इससे विभिन्न स्तरों पर प्रशासन लगभग ठप हो जाता है।”

छह महीने के भीतर होंगे विधानसभा चुनाव
उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम में विधानसभा चुनाव “लोकसभा के आम चुनाव से सिर्फ चार महीने पहले” हुए थे। महाराष्ट्र, हरियाणा और अन्य राज्यों में नई विधानसभाओं के चुनाव के लिए चुनाव लोकसभा चुनाव के छह महीने के भीतर होंगे। उन्होंने कहा, “इतने कम समय में इन चुनावों पर भारी रकम खर्च की जाएगी। हमें लगता है कि एक साथ चुनाव न केवल ईसीआई या सरकार के लिए बल्कि राजनीतिक दलों के लिए भी चुनावी खर्च को काफी कम कर देंगे।”

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.