कोरोना से अनाथ हुए विद्यार्थियों के लिए बड़ी खबर, महाराष्ट्र सरकार ने लिया यह निर्णय

जिन विद्यार्थियों के दोनों अभिभावकों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई है, उनके लिए राहत भरी खबर है।

कोरोना वायरस से संक्रमण के चलते जिन विद्यार्थियों ने अपने माता-पिता दोनों को गंवा दिया है, ऐसे मेडिकल, इंजीनियरिंग समेत उनके सभी विद्यार्थियों का कोर्स पूरा होने तक के फीस का भुगतान महाराष्ट्र सरकार करेगी। यह घोषणा सोमवार को विधानसभा में उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री चंद्रकांत पाटील ने की।

प्रश्नकाल के दौरान पूछे गए सदस्यों के सवाल के जवाब में पाटील ने कहा कि जिन विद्यार्थियों के दोनों अभिभावकों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई है, उनके मौजूदा कोर्स की पूरी फीस राज्य सरकार चुकाएगी। फिलहाल राज्य सरकार ने स्नातक की पढ़ाई कर रहे ऐसे 931 जबकि स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रहे 228 विद्यार्थियों की फीस के तौर पर 2 करोड़ 76 लाख 84 हजार 222 रुपए फीस का भुगतान किया है।

यह भी पढ़ें – इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन की प्रशासक कमेटी पर सर्वोच्च रोक, इस तिथि को होगी अगली सुनवाई

कॉलेजों में जमा 26 करोड़ किए जाएंगे वापस
एक दूसरे सवाल के अपने लिखित जवाब में पाटील ने कहा कि उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग के कॉलेजों और तकनीकी शिक्षा कॉलेजों में जमा विद्यार्थियों के 26 करोड़ रुपए का डिपॉजिट वापस किया जाएगा। संबंधित कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को इस आशय के निर्देश दे दिए गए हैं। यह सवाल कांग्रेस के नाना पटोले, शिरीष चौधरी और सुलभा खोडके सहित अन्य विधायकों ने पूछा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here