Maharashtra: एकनाथ खड़से की होगी घर वापसी? जानिये नाथाभाऊ ने क्या कहा

30 साल से अधिक समय तक भारतीय जनता पार्टी के प्रति वफादार रहने के बाद एकनाथ खड़से 23 अक्टूबर 2020 को एनसीपी में शामिल हो गए। अब एक बार फिर उनके भाजपा में वापसी को लेकर चर्चा गरम है।

103
Photo : Twitter

Maharashtra: 30 साल से ज्यादा समय तक भारतीय जनता पार्टी(Bharatiya Janata Party) में रहकर शरद पवार की पार्टी एनसीपी(Sharad Pawar’s party NCP) में चले गए एकनाथ खड़से(Eknath Khadse) अब बीजेपी में वापसी करने जा रहे हैं। पिछले कई दिनों से चल रही इन चर्चाओं पर अब विराम लग गया है और इस बारे में उन्होंने 7 अप्रैल को खुद मीडिया को जानकारी दी।

खड़से ने मीडिया को दी जानकारी
एकनाथ खड़से ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, मैं बीजेपी में शामिल होने की कोशिश नहीं कर रहा था, क्योंकि भारतीय जनता पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं और नेताओं से चर्चा करने पर वे कहते थे कि आपको तो बीजेपी में ही होना चाहिए था। आप  आओगे तो अच्छा है। ऐसी चर्चाएं पिछले चार-छह महीने से चल रही थीं, लेकिन, मैं अपनी राजनीतिक स्थिति के मुताबिक फैसला नहीं कर सका। अब केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा के बाद वे जो तारीख बताएंगे, उस दिन दिल्ली जाकर मैं भाजपा में शामिल हो जाऊंगा।

23 अक्टूबर 2020 को एनसीपी में हुए शामिल
30 साल से अधिक समय तक भारतीय जनता पार्टी के प्रति वफादार रहने के बाद एकनाथ खड़से 23 अक्टूबर 2020 को एनसीपी में शामिल हो गए। उन्होंने आंतरिक विवाद, भोसरी प्लॉट घोटाला, देवेंद्र फडणवीस के साथ मतभेद जैसे कई मुद्दों के कारण पार्टी छोड़ दी। 2020 में NCP में शामिल होने के बाद उन्हें तुरंत नेता नियुक्त कर दिया गया। उसके बाद से ही उन्होंने 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी। वे बूथ पर जाकर कार्यकर्ताओं से मिलने लगे, इस बीच पिछले दो सालों में राज्य में कई राजनीतिक उथल-पुथल देखने को मिली है। शिवसेना और एनसीपी के बीच बगावत ने सियासी गणित बदल दिया। इससे उम्मीदवारी को लेकर काफी खींचतान शुरू हो गई।

Excise policy scam case: केजरीवाल को सीएम पद से हटाने की मांग को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में एक और याचिका, इस तिथि को होगी सुनवाई

भाजपा ने रक्षा खडसे को बनाया उम्मीदवार
रावेर लोकसभा सीट से बीजेपी ने रक्षा खडसे को उम्मीदवार बनाया है। ऐसे में संभावना है कि महाविकास आघाड़ी में रावेर शरद पवार गुट को मिलेगी, इसलिए इस सीट से किसे नामांकन मिलेगा, इस पर सबकी नजर है। चर्चा थी कि शरद पवार गुट एकनाथ खडसे को इस सीट पर उतार सकती है। इस हालत में ससुर- बहु के के बीच घमासान होने की संभावना थी। हालांकि, एकनाथ खड़से ने खुद साफ किया था कि इस सीट से तीन से चार उम्मीदवार इच्छुक हैं। इस दौरान एकनाथ खड़से ने स्पष्ट किया है कि वे जल्द ही घर वापसी यानी भाजपा मे शामिल होंगे।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.