अब यूपी में होगी मुख्तार अंसारी की खातिरदारी! जानिये तैयारी

यूपी की बांदा जेल में सुरक्षा को लेकर पूरी तैयारी की जा चुकी है और निगरानी के लिए मुख्य द्वार पर केबिन भी बनाया गया है।

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ जेल प्रशासन ने उत्तर प्रदेश की पुलिस के हवाले कर दिया है। इसी के साथ यूपी पुलिस अंसारी को लेकर वहां से रवाना हो गई है। इससे पहले यूपी में उसके रखे जाने की पूरी व्यवस्था कर ली गई है। उसे प्रदेश की बांदा जेल के स्पेशल बैरक में रखा जाएगा।

रोपड़ जेल से उसका काफीला उत्त प्रदेश के लिए निकल चुका है। इससे पहले जेल के गेट पर वो एंबुलेंस लगाई गई, जिसमें मुख्तार अंसारी को यूपी लाया जा रहा है। पुख्ता सुरक्षा के बीच उसे यूपी लाया जा रहा है।

कागजी प्रक्रिया के बाद कराई गई मेडिकल जांच
बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने रोपड़ जेल प्रशासन से पहले संपर्क किया था। उसके बाद कागजी प्रक्रिया को पूरी करने के बाद मुख्तार की मेडिकल जांच कराई गई। उसके बाद उसे यूपी पुलिस को सौंप दिया गया।

ये भी पढ़़ेंः क्या महाराष्ट्र में पवार करेंगे खेल?

पत्नी को पति की हत्या का डर
इस बीच माफिया डॉन की पत्नी अफशां ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर कर मुख्तार अंसारी को सुरक्षा देने की मांग की है। याचिका में कहा गया है कि उसका एनकाउंटर किया जा सकता है। इसके साथ ही बांदा जेल में भी उसकी हत्या करने का संदेह जताया गया है। याचिका में यह भी कहा गया है कि मुख्तार भारतीय जनता पार्टी के विरोध में चुनाव लड़ा है और वो कुछ ऐसे मामलों मे गवाह है, जिसमें भाजपा के नेता आरोपी हैं। इसलिए उसकी हत्या की जा सकती है।

ये भी पढ़ेंः अब मुख्तार ऐसे बनेगा ‘बाहुबिल्ली’!

रोपड़ जेल में बंद था माफिया डॉन
बता दें कि अंसारी पंजाब के रोपड़ जेल के बैरक क्रमांक 1 में बंद था। इसे जेल मैनुअल के रुप में कस्टडी में लिया गया। बांदा जेल में सुरक्षा को लेकर पूरी तैयारी की जा चुकी है और निगरानी के लिए मुख्य द्वार पर केबिन भी बनाया गया है। जेल में हर व्यक्ति की एंट्री रजिस्टर की जाएगी। इसके साथ ही जेल में सीसीटीवी की जांच भी की गई है।

14 मामले लंबित
पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस पूरी दक्षता बरत रही है। बांदा जेल किले में बदल गई है। वरिष्ठ अधिकारी सुरक्षा ऑडिट करके कदम उठा रहे हैं। मुख्तार को लाने के लिए वज्र वाहन का उपयोग किया गया है। इसके अलावा जीपीएस सुविधा, अत्याधुनिक हथियारों से लैस उच्च प्रशिक्षित पुलिस कर्मी दल में तैनात हैं।मुख्तार अंसारी पर प्रदेश में 14 प्रकरण लंबित हैं, जिनकी सुनवाई के लिए उसकी उपस्थिति आवश्यक है।

इनके कंधे पर है सुरक्षा
मुख्तार अंसारी को ला रहे उत्तर प्रदेश पुलिस का नेतृत्व सर्कल ऑफिसर सत्यप्रकाश शर्मा कर रहे हैं। उनके साथ पुलिस की बड़ी लश्कर भी है।

  • बांदा से रोपड़ दूरी – 840 किलोमीटर
  • 2 एसएचओ
  • 6 एसआई
  • 20 पुलिस कर्मी
  • 10 पुलिस कर्मी
  • 50 पीएएसी (एक बटालियन)
  • 1 वज्र वाहन
  • 10 पुलिस वाहन
  • 1 एम्बुलेंस

जेल किले में बदली
बांदा जेल को उत्तर प्रदेश पुलिस ने किले में बदल दिया है। सुरक्षा के लिए वहां जेल प्रशासन ने विशेष निगरानी दलों को तैनात कर दिया है। इस जेल के तन्हाई बैरक में मुख्तार अंसारी को रखा जाएगा। जिसकी सुरक्षा ऑडिट की रिपोर्ट डीजी कारागार आनंद कुमार को भेजी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here