Lok Sabha Elections: देश में एक दशक में मिले कितने लोगों को रोजगार? केंद्रीय मंत्री ने किया यह दावा

अनुराग ठाकुर ने कहा कि पिछला दशक भारत की प्रगति का सच्चा दशक बनकर सामने आया है और आने वाला युग भी भारत का है।

51

Lok Sabha Elections: भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बेरोज़गारी और रोज़गार के मुद्दे पर इंडी अलायंस के दावों को भ्रामक व खोखला बताते हुए मोदी सरकार में रोज़गार सृजन की दिशा ऐतिहासिक कीर्तिमान बनने व रिकॉर्ड रोज़गार मिलने की बात कही है।

                                                                                                                                     15 मई को को यहां जारी एक बयान में अनुराग ठाकुर ने कहा कि रोज़गार के मुद्दे पर इंडी अलायंस लगातार झूठ बोल कर देश को गुमराह कर रहा है। स्कोच समूह द्वारा पिछले 10 वर्षों में भारतीय रोजगार सृजन पर जारी रिपोर्ट ने विपक्ष के झूठे दावों की पोल खोल दी है। मोदीनॉमिक्स के इस शानदार उदाहरण ने रोज़गार पर विपक्षी भ्रामक दुष्प्रचार की जड़ों को हिला दिया है। स्कोच की रिपोर्ट में सामने आया है कि मोदी सरकार के पिछले 10 वर्षों में 51.40 करोड़ रोजगार सृजित हुए हैं, जो कि दिखाता है कि मोदी सरकार की नीतियों से एक दशक में रोज़गार के कितने अवसर मिले।

मतदाताओं ने एनडीए की जीत पर लगाई मुहर
अनुराग ठाकुर ने कहा कि लोकसभा चुनावों के पहले चार चरणों में जनता ने पहले ही मोदी सरकार के विकास के ट्रैक रिकॉर्ड पर अपनी मुहर लगा दी है और अब इस रिपोर्ट ने विपक्ष के दुष्प्रचार की कलई खोल कर दी है। यह नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी और समावेशी नेतृत्व की ही देन है कि हमने विभिन्न क्षेत्रों में पर्याप्त रोजगार सृजन होता देखा है। इससे पहले तो भारत में भ्रष्टाचार के ऊपर रिपोर्टें आया करती थीं लेकिन आज विकास आधारित रिपोर्टें आ रहीं है। यह बदलाव देश को अच्छा लग रहा है और जनता को विश्वास है कि आज देश सुरक्षित हाथों में हैं।

Lok Sabha Elections: अयोध्या तो पहली झांकी है… ! सीएम सरमा ने बताया-एनडीए को क्यों चाहिए 400 पार

बिखर रहा है इंडी गठबंधन
अनुराग ठाकुर ने कहा कि जैसे जैसे मोदी सरकार के अभूतपूर्व विकास के दशक की उपलब्धियां सामने आ रही हैं, वैसे-वैसे विपक्ष का भ्रामक दुष्प्रचार रेत के किले की तरह बिखर रहा है। पहले भी इन्होंने देश को गरीबों के नाम पर भ्रमित करने की कोशिश की थी तब एक रिपोर्ट सामने आई थी कि मोदी सरकार ने मात्र 10 वर्षों में 25 करोड़ लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकाला है। अभी प्रकाशित हुई स्कोच की रिपोर्ट बताती है कि 51.40 करोड़ सृजित रोजगार में 19.79 करोड़ मोदी सरकार की विभिन्न स्कीमों व नीतियों की वजह से हुए हैं। इसके साथ ही 31.61 करोड़ रोजगार बैंकों की तरफ से दिए गए लोन की वजह से संभव हुए हैं। इसमें मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ने बेहतरीन भूमिका निभाई है और हर साल औसतन 3.6 करोड़ लोगों को रोजगार दिया है। इसके साथ-साथ प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, ग्राम सड़क योजना, कौशल विकास योजना, पीएम स्वनीधि और पीएलआई जैसी स्कीमों ने भी लोगों को रोजगार देने में प्रत्यक्ष तौर पर मदद की है।

संविधान वाला नैरेटिव प्लॉप
अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि आज विपक्षी खेमे पर तरस आ रहा है, क्योंकि पहले ही उनका एसटी, एससी, ओबीसी आरक्षण और संविधान वाला नैरेटिव बुरी तरह पिट चुका है। पाकिस्तान के गोद में जाकर बैठने से भी उनका काम बनता नहीं दिख रहा। वोट बैंक और अपिजमेंट पॉलिटिक्स भी अब काम नहीं आ रही। गाहे बगाहे यह लोग बिना सिर पैर के बेरोजगारी पर बात कर लेते थे तो अब वह भी नहीं कर सकते। अब आखिर इनका अगले 15 दिनों का चुनाव प्रचार कैसे बीतेगा? ये लोग कौन सा नया प्रोपेगेंडा लेकर आएंगे? हिंदुओं की संपत्ति छीन कर अपने वोट बैंक को देने वाली बात पहले चार चरणों में इन पर भारी पड़ चुकी है।

आने वाला वक्त भारत का
अनुराग ठाकुर ने कहा कि पिछला दशक भारत की प्रगति का सच्चा दशक बनकर सामने आया है और आने वाला युग भी भारत का है। जैसे-जैसे समय बीतेगा और लोग मोदी के 10 वर्षों पर और रिसर्च करेंगे वैसे-वैसे मोदी सरकार के युग परिवर्तनकारी बदलाव से देश और दुनिया परिचित होगी। मोदी 3.0 और बड़े बदलावों और परिवर्तन वाला होगा। हम जल्द विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेंगे। अनुराग ठाकुर ने अंत में रोजगार सृजन से जुड़े कुछ और आंकड़े प्रस्तुत करते हुए बताया कि साल 2018 से लेकर 2024 तक ईपीएफओ में 7 करोड़ 60 लाख लोग इनरोल हुए हैं। यानी इतने लोगों को फॉर्मल सेक्टर में रोजगार मिला है और ऐसा तब हुआ है, जब इसमें लगभग 2 वर्ष कोविड के कारण अस्त व्यस्त रहे। इसके अलावा लगभग 30 करोड़ ई-श्रम कार्ड बनाए गए हैं। मुद्रा योजना के अंतर्गत 41 लाख ऋण दिए गए।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.