Lok Sabha Elections 2024: कांग्रेस को केजरीवाल से दोस्ती पड़ेगी महंगी? जानिये, दिल्ली में कैसा है चुनावी समीकरण

दिल्ली लोकसभा की 7 सीटों पर छठे चरण में 25 मई को मतदान होगा। बीजेपी ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत लगा दी।

317

Lok Sabha Elections 2024: बीजेपी (BJP) की राह रोकने के लिए आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) और कांग्रेस (Congress) मिलकर चुनाव लड़ रहे है। परन्तु शुरू से ही दोनो दलों में तालमेल की कमी दिखी। आप ने 4 सीटों की घोषणा फरवरी महीने में कर दी थी। कांग्रेस ने अपनी 3 सीटों की घोषणा 14 अप्रैल को की थी। इसके बाद कांग्रेस में बगावत शुरू हो गई। प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली , पूर्व मंत्री राजकुमार चौहान सहित कई बड़े नेता कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए।

कांग्रेस के सीनियर नेताओं ने चुनाव प्रचार से किनारा
दिल्ली लोकसभा की 7 सीटों पर छठे चरण में 25 मई को मतदान होगा। बीजेपी ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत लगा दी । केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत बीजेपी के सभी दिग्गजों ने चुनाव प्रचार किया। लेकिन इंडी गठबंधन के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच चुनाव प्रचार में तालमेल की बेहद कमी देखी गई। कांग्रेस पार्टी ने अपने स्टार प्रचारक की सूची दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए जारी की थी। लेकिन चुनाव प्रचार में प्रियंका गांधी नहीं दिखी, कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ नेता गायब रहे। राहुल गांधी ने ही मोर्चा संभाला।

यह भी पढ़ें- Pune Porsche Car: आरोपी के पिता ने ‘इसके लिए’ ड्राइवर पर बनाया दबाव,पुणे कार हादसे में बड़ा अपडेट

कांग्रेस ने मतदान से पहले ही मान ली अपनी हार?
कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली लोकसभा चुनाव के लिए 40 स्टार प्रचारक को की सूची जारी की थी। जिसमें खास नाम मल्लिकार्जुन खड़गे का था। कांग्रेस पार्टी ने पश्चिमी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की एक चुनावी सभा तय भी की इसके लिए सारी तैयारियां की गई थी। लेकिन मल्लिकार्जुन खड़गे रैली में नहीं पहुंचे और कांग्रेस कार्यकर्ता मायूस दिखाई दिए। इसी तरह सोनिया गांधी ने भी चुनाव प्रचार में हिस्सा नहीं लिया। प्रियंका गांधी ने भी दिल्ली में आना मुनासिब नहीं समझा। राहुल गांधी ने अकेले चुनाव प्रचार किया। कांग्रेस तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव मैदान में है।

यह भी पढ़ें- Bangladedhi MP Murder: हनी ट्रैप में फंसा कर बांग्लादेश के सांसद की हत्या? जानिये, CBI ने अपने दावे में क्या कहा

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में दूरियां
एक कहावत है सिर मुंडवाते ओले पड़ गए.. दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन होने पर स्थानीय कांग्रेसी नेताओं ने विरोध तेज कर दिया था। कई नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: दिल्ली शहर पर बुरी नजर! जानिए लोकसभा चुनाव के दौरान राजधानी में क्या हुआ?

केजरीवाल तो डूबेंगे ही, कांग्रेस को भी ले डूबेंगे
रही सही कसर स्वाति मालीवाल की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास पर हुई पिटाई ने पूरी कर दी। कांग्रेस के एक वर्ग का मानना है कि केजरीवाल ने दिल्ली में कांग्रेस को पहले ही साफ कर दिया है। रही सही कसर इन लोकसभा चुनाव में पूरी कर देंगे।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.