जब किसान महापंचायत का मंच हो गया ट्यों?…. पढ़िए पूरी खबर

मंच टूटने के बाद राकेश टिकैत और पंजाब के किसान नेत बलबीर सिंह राजेवाला सहित कई नेता एक साथ नीचे गिर गए।

जींद के कंडेला गांव में आयोजित किसान महापंचायत में मंच टूटने से हड़कंप मच गया। इस महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी शामिल थे। जिस समय मंच टूटा, उस वक्त टिकैत और अन्य किसान नेता मंच पर मौजूद थे। टिकैत इस हादसे नें पूरी तरह सुरक्षित बच गए। मंच टूटने के बाद राकेश टिकैत और पंजाब के किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाला सहित कई नेता एक साथ नीचे गिर गए। हालांकि इस घटना में सभी बाल-बाल बच गए। बताया जा रहा है कि मंच ज्यादा लोगों के चढ़ जाने के कारण टूटा।

टिकैत ने इस दौरान हरियाणा के किसानों से बड़ी संख्या में आंदोलन में शामिल होने की अपील की। महापंचायत में किसानों की मांगों और किसान आंदोलन को लेकिन पांच प्रस्ताव पास किए गए।

पारित किए गए प्रस्ताव
1- तीनों कृषि कानून रद्द किए जाएं
2- एमएसपी को कानूनी जामा पहनाया जाए
3- स्वामीनाथन की सिफारिशों को लागू किया जाए
4-26 जनवरी को पकड़े गए किसानों को रिहा किया जाए और जब्त किए गए ट्रैक्टरों को वापस किया जाए।

शांतिपूर्ण आंदोलन चलाने की अपील
मंच टूटने के थो़ड़ी देर बाद महापंचायत फिर से शुरू हो गई। राकेश टिकैत ने इस मंच से किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि अभी तो किसानों ने कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है, अगर गद्दी वापसी की बात की तो सरकार क्या करेगी? टिकैत ने लोगों से अपील की कि आंदोलन शांतिपूर्वक चलाएं। उन्होंने कहा कि किसान नंगे पांव खेत में जाएं  और अपने खेत की मिट्टी शरीर पर लगाएं। इसके बाद उनके मन में जमीन को बेचने का ख्याल तक नहीं आएगा।

ये भी पढ़ेंः दिल्ली हिंसाः इन पर 1-1 लाख रुपए का इनाम!

महापंचायत में 50 से अधिक खापों के हजारों किसान शामिल
कंडेला गांव के राजीव गांधी खेल स्टेडियम में आयोजित महापंचायत में 50 से अधिक खापों के हजारों किसानों ने हिस्सा लिया। टिकैत ने लोगों से आह्वान किया कि किसान दिल्ली कूच करने के लिए अपनी तैयारी करके रखें, जब जरुरत होगी, तब बुला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैंने उस दिन पानी मांगा क्योंकि पानी ठंढा होता है, अगर आग मांग लेता तो दिल्ली और सरकार क्या करती?

युद्ध मे घोड़े नहीं बदले जाते
टिकैत ने कहा कि युद्ध मे घोड़े नहीं बदले जाते। सरकार ने बातचीत के लिए 40 किसानों की कमेटी बनाई है। उसके सदस्य नहीं बदले जाएंगे। कमेटी भी वही रहेगी और सदस्य भी वही रहेंगे।

ये किसान नेता थे शामिल
कंडेला गांव के स्टेडियम में आयोजित महापंचात में राकेश टिकैत के आलावा राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह, पंजाब किसान यूनिन नेता बलबीर सिह राजेवाला, हरियाणा भारतीय किसान यूनियन नेता गुरनाम सिंह चढूनी, रतन सिंह मान, चौ. जोगेंद्र मान आदि संयुक्त किसान मार्चा के नेता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here