Khichdi scam: खिचड़ी घोटाले के सरगना हैं संजय राउत, संजय निरुपम ने किया यह दावा

120

Khichdi scam: पूर्व कांग्रेस नेता (former congress leader) संजय निरुपम (Sanjay Nirupam) ने 8 अप्रैल (सोमवार) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि शिवसेना (यूबीटी) (Shiv Sena UBT) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) खिचड़ी घोटाले (Khichdi scam) के किंगपिन हैं।

इस बीच, राउत शिवसेना (यूबीटी) के दूसरे नेता हैं जिन पर कथित खिचड़ी घोटाला मामले में शामिल होने का आरोप है। इससे पहले दिन में, जांच एजेंसी द्वारा तलब किए जाने के बाद शिवसेना (यूबीटी) नेता अमोल कीर्तिकर प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश हुए।

यह भी पढ़ें- Rahul Gandhi: प्रशांत किशोर ने कांग्रेस की कमजोर कड़ी का किया जिक्र, राहुल गांधी को दी यह सलाह

संजय राउत ही खिचड़ी घोटाले के मास्टरमाइंड
पूर्व सांसद संजय निरुपम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर खुलासा किया कि संजय राउत ही खिचड़ी घोटाले के मुख्य मास्टरमाइंड हैं। इसके अलावा उन्होंने संजय राउत की गिरफ्तारी की भी मांग की है। संजय निरुपम ने इस मामले में अपने परिवार पर एक करोड़ की दलाली लेने का भी आरोप लगाया है। संजय निरुपम ने कहा, “उत्तर पश्चिम मुंबई लोकसभा क्षेत्र से शिव सेना के उम्मीदवार (अमोल कीर्तिकर) खिचड़ीचोर को ईडी ने जांच के लिए बुलाया है। मुझे नहीं पता कि ईडी जांच के बाद क्या करेगी, लेकिन निश्चित रूप से खिचड़ीचोर के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। मैं खिचड़ी चोर और खिचड़ी घोटाले पर काम करना शुरू किया, जब यह किया तो पता चला कि इसका मुख्य मास्टरमाइंड कोई और है।”

यह भी पढ़ें- Khichdi Scam: समन के बाद ईडी कार्यालय पहुंचे अमोल कीर्तिकर, जानें क्या है मामला

राऊत ने बेटी, भाई और पार्टनर के नाम पर पैसे लिए
सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, अब निष्कासित कांग्रेस नेता निरुपम ने कथित घोटाले में राउत को किंगपिन बताते हुए कहा, “इस पूरे घोटाले में किंगपिन संजय राउत हैं… इस घोटाले में, उन्होंने नाम पर पैसा लिया है। अपनी बेटी, भाई और साथी से…उन्होंने उनकी बेटी विधिता संजय राउत के नाम पर चेक के माध्यम से रिश्वत ली है, जो खुद निर्दोष है और इन चीजों से अनजान है।” यह रकम संजय राउत के भाई, बेटी के नाम पर चेक के जरिए ली गई थी। संजय राउत की बेटी निकिता के खाते में 3 लाख 50 हजार, 5 लाख, तीन लाख रुपये जमा हुए. साथ ही संदीप राऊत के खाते में 5 लाख, 1 लाख 25 हजार रुपये जमा थे। सुजीत पाटकर के खाते में 14 लाख, 14 लाख, 10 लाख, 1 लाख 90 हजार, 1 लाख 90 हजार रुपये जमा थे। जब वह मेल घोटाले में पकड़ा गया तो पता चला कि उसने अपनी पत्नी के नाम पर रिश्वत ली थी। बिल्डर से पैसा लिया। पत्नी को इसमें नहीं लाना चाहिए था। संजय निरुपम ने आरोप लगाया, अब इस घोटाले में उन्होंने अपनी बेटी, भाई और अपने पार्टनर के नाम पर पैसे लिए हैं।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.